Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh

मध्यप्रदेश की समृद्धि का आधार है नर्मदा नदी - मुख्यमंत्री

जबलपुर, मध्यप्रदेश में आगामी दो जुलाई को नर्मदा के दोनों तटों पर 12 करोड़ पौधे लगाये जायेंगे। पौध रोपण के लिए राजस्व और वन विभाग ने भूमि चिन्हित कर ली है। नर्मदा नदी मध्यप्रदेश की समृद्धि का आधार है, जो दर्जनों शहरों को पेयजल उपलब्ध करवाती है। यह बात मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने जबलपुर जिले के भेड़ाघाट में ‘नमामि देवि नर्मदे-नर्मदा सेवा यात्रा’ के दौरान जनसंवाद करते हुए कही।

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मध्यप्रदेश में नशामुक्ति का आंदोलन चलेगा। प्रथम चरण में नर्मदा नदी के दोनों तटों पर पाँच-पाँच किलोमीटर तक शराब की दुकानें एक अप्रैल से बंद कर दी गयी हैं। उन्होंने कहा कि अब रिहायशी इलाकों, शिक्षण संस्थाओं और धार्मिक स्थलों के पास शराब की दुकानें नहीं खुलेंगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि चरणबद्ध तरीके से शराब की सभी दुकानें बंद कर प्रदेश में शराब-बंदी लागू की जाएगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने माँ ताप्ती, बेतवा और क्षिप्रा की धार को टूटते हुए देखा है। अगर माँ नर्मदा की धार टूटी तो जीवन नहीं बचेगा।