Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh

समाधान ऑनलाइन
मध्यप्रदेश में शराब के अवैध विक्रय पर होगी कठोरतम कार्यवाही
पॉलीथीन के विकल्प के रूप में कागज और कपड़े की थैलियां करें इस्तेमाल

भोपाल, मध्यप्रदेश में चरणबद्ध तरीके से शराबबंदी लागू की जायेगी। प्रदेश में शराब के अवैध विक्रय के प्रकरणों में कठोरतम कार्रवाई की जाये। प्रदेश में एक मई से पॉलीथीन का उपयोग बंद हो जायेगा। पॉलीथीन के विकल्प के रूप में कागज और कपड़े की थैलियों का उपयोग किया जाये। यह बात मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल में समाधान ऑनलाइन के दौरान अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कही।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि  राष्ट्रीय राजमार्ग, रिहायशी इलाकों, धार्मिक स्थलों और शिक्षण संस्थानों के निकट शराब की दुकानें और जिनसे नागरिकों को दिक्कत हो रही है, उन्हें स्थानांतरित करें। इसमें किसी प्रकार की हीला-हवाली नहीं होनी चाहिये। अधिकारी राजस्व के लिए शराब दुकानों के संचालन की मानसिकता को बदलें। सरकार जनता की है। शराब विक्रेताओं की नहीं। महिलाओं की इज्जत और जिन्दगी से बढ़कर कुछ नहीं है। सामान्यतः देखा गया है कि छेड़-छाड़ आदि की आपराधिक गतिविधियों के मूल में शराब होती है। उन्होंने कहा कि नागरिकों को दिक्कत हो, ऐसी दुकानें यदि स्थानांतरित नहीं हो सकती हैं तो उन्हें वैधानिक तरीके से बंद करने की कार्रवाई की जाये।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कलेक्टरों से यह सुनिश्चित करने को कहा कि बुन्देलखंड पैकेज में निर्मित कोई भी नल-जल योजना बंद नहीं रहे। उन्होंने नरवाई की आगजनी में व्यक्तियों की मृत्यु की घटना पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि इस विषय में किसानों को जागृत करें, ताकि इस प्रकार की घटना की पुनरावृत्ति नहीं हो।

श्री चौहान ने समाधान ऑनलाइन के दौरान ग्यारह आवेदकों की समस्याओं का समाधान करवाया।