Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh
social media accounts

अटल आश्रय योजना
प्रधानमंत्री आवास योजना में नागरिकों को मिलेंगी सभी बुनियादी सुविधाएं

दमोह, प्रधानमंत्री आवास योजना में बनने वाले आवासीय क्षेत्रों में नागरिकों को सभी बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध करवायी जायेंगी। वर्ष 2022 तक प्रत्येक व्यक्ति के पास अपना आवास होगा। यह बात वित्त मंत्री श्री जयंत मलैया ने दमोह जिले में अटल आश्रय योजना के तहत बनने वाले आवासों और दुकानों का भूमिपूजन करते हुए कही।

वित्त मंत्री ने कहा कि दमोह में सड़कों का विकास, बायपास निर्माण, रेलवे ओव्हर ब्रिज और अन्य विकास कार्य तेजी से करवाये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि दमोह जिले में विकास के सभी कार्य तय समय-सीमा में पूरे किये जायेंगे।

  • दमोह में अटल आश्रय योजना के तहत बन रहे हैं 867 आवास और 50 दुकानें।
  • इन आवासीय क्षेत्रों में नागरिकों को मिलेंगी उद्यान, स्कूल और अस्पताल जैसी बुनियादी सुविधाएँ।

मध्यप्रदेश गृह निर्माण मंडल के अध्यक्ष श्री कृष्णमुरारी मोघे ने कहा कि हाउसिंग बोर्ड वर्ष 2018 तक 25 हजार लोगों को मकान बनाकर देगा। हाउसिंग बोर्ड ने तय किया है कि वह मार्च 2018 तक 7,500 ई.डब्ल्यू.एस. और 5,500 एलआईजी मकान तैयार करेगा।

श्री मोघे ने कहा कि प्रदेश में 2200 एचआईजी और 2500 फ्लैट का निर्माण कार्य भी किया जा रहा है। दमोह नगर पालिका अध्यक्ष श्रीमती मालती असाटी ने बताया कि हाउसिंग बोर्ड 60 हेक्टेयर भूमि में आवास और दुकान तैयार कर रहा है। इनमें से केवल 58 ई.डब्ल्यू.एस. का पंजीयन होना शेष रह गया है।

वित्त मंत्री श्री जयंत मलैया ने ‘नमामि देवि नर्मदे-नर्मदा सेवा यात्रा’ में शामिल होने नरसिंहपुर जिले से जा रही उप यात्रा को दमोह से झण्डी दिखाकर रवाना किया।

वित्त मंत्री ने कहा कि प्रदेश में जहाँ-जहाँ माँ नर्मदा का प्रवाह है, वहाँ यात्रा निकाली जा रही है। उन्होंने कहा जहाँ मां नर्मदा नहीं है, वहाँ से उप-यात्रा जा रही है। श्री मलैया ने कहा नर्मदा तट के 500-500 मीटर दोनों ओर पौध-रोपण किया जायेगा। निजी जमीन पर किसानों को पौध लगाने और उनके संरक्षण के लिये राशि भी दी जायेगी। उन्होंने कहा सरकार की मंशा माँ नर्मदा को प्रदूषण मुक्त करना है।