| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | संपर्क करें | साईट मेप
You Tube

अवैध गर्भपात केन्द्र की सूचना देने वाले को मिलेगा एक लाख रुपये का पुरस्कार

भोपाल, गर्भधारण पूर्व एवं प्रसव पूर्व निदान तकनीक (लिंग चयन प्रतिषेध) अधिनियम (पीसी-पीएनडीटी एक्ट) में गठित राज्य सलाहकार समिति ने अवैध रूप से चल रहे गर्भपात केन्द्र की सूचना देने वाले सामाजिक कार्यकर्ता श्री भूपत सिंह जादौन को एक लाख रुपये का पुरस्कार देने की घोषणा की है। श्री जादौन की सूचना पर जिला कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक भिण्ड द्वारा गठित संयुक्त टीम ने स्टिंग ऑपरेशन कर भ्रूण लिंग परीक्षण में दोषी पाये गये चिकित्सक और अन्य लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजा है। यह जानकारी राज्य समुचित प्राधिकारी एवं संचालक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन डॉ. बी.एन. चौहान की अध्यक्षता में हुई पीसीपीएनडीटी की राज्य सलाहकार समिति में दी गई।

समिति ने सोनोग्राफी केन्द्रों की निरीक्षण गुणवत्ता बढ़ाने के लिए जिला निरीक्षण एवं पर्यवेक्षण दलों में रेडियोलॉजिस्ट, प्रसूति रोग विशेषज्ञ, फोगसी सदस्यों (फेडरेशन ऑफ ऑब्सट्रेटिक एण्ड गायनेकोलॉजिकल सोसाइटीज ऑफ इंडिया) और समाजसेवियों को भी जोड़ने का निर्णय लिया। जिला सलाहकार समिति सोनोग्राफी केन्द्र का 3 माह में कम से कम एक बार निरीक्षण सुनिश्चित करेगी।

समिति ने नियमित रूप से बैठक करने वाले जिलों को सम्मानित और अनियमित बैठक करने वाले जिलों के विरुद्ध कार्रवाई करने का भी निर्णय लिया। बैठक में ‘हमारी बिटिया अभियान’ और छह जिलों में संचालित ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ अभियान की भी समीक्षा की गई।