| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | संपर्क करें | साईट मेप
You Tube

अमरीका ने आईएस पर गिराया सबसे बड़ा गैर परमाणु बम

अमरीका ने अब तक का सबसे बड़ा नॉन न्यूक्लियर हमला अफगानिस्तान पर किया। बम को मदर ऑफ ऑल बम (मोआब) नाम दिया। यह जीबीयू 43 कैटेगरी का बम है। नांगरहार प्रांत में आईएस की सुरंगों को निशाना बनाया गया। इसको एम सी 130 कार्गो विमान से गिराया गया। हमला 13 अप्रैल को किया गया। माना जा रहा है कि हमले के पीछे अमरीका की मंशा उत्तर कोरिया कोएक बम की कीमत 103 करोड़ रुपये है वजन : 10 हजार किलो लंबाई : 9 मीटर चौड़ाई : 1 मीटर कीमत : 103 करोड़ रुपये विस्फोटक : 11 टन एच-6, टीएनटी और एल्युमीनियमरेंज : गिरने वाली जगह पर 1.5 मील तक सब तबाह। चेतावनी देना भी है, जो परमाणु परीक्षण करने पर उतारू है। सुरंगों पर निशाना : जानकारी के अनुसार अमरीका ने आईएस की सुरंगों में बने ठिकानों को निशाना बनाते हुए यह हमला किया। फिलहाल हताहतों की संख्या के बारे में कोई जानकारी नहीं है।‘एमओएबी’मदर ऑफ ऑल बम यह बम विध्वंसक ताकत के मामले में दुनिया का सबसे बड़ा नॉन न्यूक्लियर बम है। अमेरिका ने 2003 में एमओएबी, यानी मदर ऑफ ऑल बम बनाया था। तब इराक की लड़ाई चल रही थी। अमेरिकी विशेषज्ञों ने इसे महज 9 हफ्तों में तैयार किया था। उस वक्त ऐसे सिर्फ 15 बम बनाए गए थे। पहला टेस्ट फायर 11 मार्च 2003 को फ्लोरिडा में किया गया था। उसके बाद इसका कभी भी इस्तेमाल नहीं किया गया। 13 अप्रैल को पहली बार अमेरिका ने इसका प्रयोग किया है।