Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh
social media accounts

परिवार कल्याण जागरुकता
जनसंख्या स्थिरता माह ग्यारह अगस्त तक चलेगा
 

भोपाल, परिवार कल्याण जागरुकता एवं सेवाओं को लक्षित दम्पतियों तक पहुँचाने के लिये प्रदेश में 11 अगस्त तक जनसंख्या स्थिरता माह का आयोजन किया जा रहा है। एक माह तक चलने वाले इस विशेष अभियान में पुरुष नसबंदी एवं दो बच्चों में अंतर के लिये आईयूसीडी/पीपीआईयूसीडी की सेवा पर विशेष जोर दिया जायेगा। भोपाल में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सुधीर जेसानी और डॉ. आई.के. चुघ ने जयप्रकाश चिकित्सालय में इस अभियान का शुभारंभ किया।

डॉ. जेसानी ने बताया कि इस दौरान परिवार कल्याण सेवाओं के लिये जिले में परिवार विकास मेलों का आयोजन होगा। ये मेले, जे.पी. हॉस्पिटल, सिविल हॉस्पिटल, कॉटजू हॉस्पिटल, बैरागढ़ सिविल हॉस्पिटल, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बैरसिया, कोलार, गांधी नगर, सुल्तानिया, इंदिरा गांधी चिकित्सालय, मास्टर लाल सिंह, जवाहरलाल नेहरू गैस राहत अस्पतालों में होंगे। इनमें विशेषज्ञ चिकित्सक महिला एवं पुरुष नसबंदी ऑपरेशन करेंगे। मेले में दम्पतियों को परिवार कल्याण के साधनों को अपनाने के लिये प्रेरित भी किया जायेगा।

चिकित्सक पुरस्कृत

पिछले साल जिले में सबसे अधिक पुरुष नसबंदी के लिये डॉ. जी.एस. अर्गल और महिला नसबंदी के लिये डॉ. आभा जेसानी को पुरस्कृत किया गया। साथ ही परिवार कल्याण में उत्कृष्ट कार्य करने के लिये डॉ. हेमेन्द्र कदम, डॉ. एम.एस. खान और डॉ. प्रीति देवपुजारी को भी सम्मानित किया गया। उल्लेखनीय है कि गत वर्ष भोपाल ने 2345 पुरुष नसबंदी के साथ प्रदेश में सर्वोच्च स्थान प्राप्त किया था। जिले की सकल प्रजनन दर 2.0 है, जो राष्ट्रीय एवं राज्य औसत से कम है।

प्रोत्साहन राशि में हुई बढ़ोत्तरी

राज्य शासन ने महिला एवं पुरुष नसबंदी पर दी जाने वाली प्रोत्साहन राशि में बढ़ोत्तरी की है। अब पुरुष नसबंदी पर 2000 और महिला नसबंदी पर 1400 रुपये दिये जा रहे हैं। महिला द्वारा प्रसव के 7 दिन के अंदर नसबंदी करवाने पर 2200 रुपये की राशि दी जाती है।