Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh
social media accounts

 
खेती को लाभ का धंधा बनाने के लिये किये कई काम - जयंत मलैया
मध्यप्रदेश में सिंचाई रकबे में हुई पाँच गुना वृद्धि

दमोह, मध्यप्रदेश में खेती को लाभ का धंधा बनाने के लिये राज्य सरकार ने किसानों के लिये कई काम किये गए हैं। प्रदेश में किसानों को कृषि कार्य के लिये शून्य प्रतिशत ब्याज पर ऋण उपलब्ध करवाया जा रहा है। प्रदेश के सिंचाई रकबे में भी पाँच गुना से अधिक वृद्धि हुई है। यह बात वित्त मंत्री श्री जयंत मलैया ने दमोह जिले की कृषि उपज मंडी में भारतीय किसान संघ के कृषक सम्मेलन को संबोधित करते हुए कही।

  • मध्यप्रदेश में सिंचाई का रकबा बढ़कर हुआ 40 लाख हेक्टेयर।
  • पहले प्रदेश में 7 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में होती थी सिंचाई।

वित्त मंत्री ने कहा कि मध्यप्रदेश में पिछले 13 सालों में बिजली के क्षेत्र में भी उल्लेखनीय उपलब्धि हासिल की गयी है। पहले बिजली का उत्पादन साढ़े चार हजार मेगावॉट हुआ करता था, जो अब बढ़कर 17 हजार मेगावॉट तक पहुँच गया है।

किसानों को कृषि के लिये पर्याप्त बिजली दी जा रही है। विधायक श्री लखन पटेल ने कहा कि इस वर्ष जिले में समर्थन मूल्य पर 13 लाख मीट्रिक टन गेहूँ की खरीदी की गयी है। पहले के सालों में किसानों से मात्र 2 लाख मीट्रिक टन गेहूँ की खरीदी हो पाती थी।