| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | संपर्क करें | साईट मेप
You Tube

समाधान ऑनलाइन की मदद से
मकसूद को मिले जाति प्रमाण-पत्र
 

ग्राम दमुआ, तहसील जुन्नारदेव, जिला छिंदवाड़ा के श्री मकसूद अहमद अंसारी ने समाधान ऑनलाइन पर संपर्क कर बताया कि वे जुलाहा जाति से हैं और उनकी बेटियों को जाति प्रमाण-पत्र के अभाव में सरकार द्वारा प्रदत्त छात्रवृत्ति राशि का लाभ नहीं मिल पा रहा है। उन्होंने बताया कि बेटियों का जाति प्रमाण-पत्र बनवाने के लिये आवश्यक दस्तावेज आवेदन-पत्र के साथ नायब तहसीलदार, उप-तहसील दमुआ के समक्ष प्रस्तुत किये थे, लेकिन कई बार पता लगाने के बाद भी उनकी बेटियों का जाति प्रमाण-पत्र बना है या नहीं, इसकी जानकारी नहीं मिल सकी।

श्री मकसूद की शिकायत पर समाधान ऑनलाइन के अधिकारियों ने छिंदवाड़ा कलेक्टर कार्यालय से प्रकरण की विस्तृत जानकारी माँगी। जानकारी से पता चला कि मकसूद ने बेटियों का जाति प्रमाण-पत्र बनवाने के लिए नायब तहसीलदार, दमुआ के माध्यम से दस्तावेज जमा किए थे और संबंधित अधिकारी ने उन्हें लोकसेवा केन्द्र में जाति प्रमाण-पत्र बनवाने के लिए सही समय पर प्रेषित भी कर दिया था।

तब समाधान ऑनलाइन के अधिकारियों ने लोकसेवा केंद्र, जुन्नारदेव में प्रकरण की वास्तविक स्थिति जानने के लिए अनुविभागीय अधिकारी से अनुरोध किया। लोकसेवा केंद्र के संबंधित अधिकारी ने बताया कि आवेदक बार-बार बुलाने के बाद भी तय तिथि पर कार्यालय में उपस्थित नहीं हुआ था, जिसके चलते उसके प्रकरण को पेंडिंग में रख दिया गया है।

समाधान ऑनलाइन के अधिकारियों ने मकसूद को लोकसेवा केन्द्र, जुन्नारदेव पहुँचने के लिए कहा और उन्हें, की गई लापरवाही पर फटकार भी लगाई। मकसूद ने अपनी गलती कबूलते हुए तुरंत लोकसेवा केंद्र, जुन्नारदेव में आवश्यक दस्तावेज जमा करवाए। एक सप्ताह के बाद मकसूद ने समाधान ऑनलाइन के अधिकारियों को बेटियों का जाति प्रमाण-पत्र मिलने की सूचना दी और अधिकारियों का शुक्रिया अदा किया।

कैसे लें मदद

अगर आप भी समाधान ऑनलाइन की मदद लेना चाहते हैं तो http://samadhan.mp.gov.in पर ऑनलाइन अपनी समस्या लिख भेजें। ऑनलाइन अधिकारी आप से स्वयं संपर्क कर लेंगे।