| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | संपर्क करें | साईट मेप
You Tube

चीन के विद्रोही नेता और नोबेल विजेता शियाओबो का निधन

चीन के विद्रोही नेता और नोबेल शांति पुरस्कार विजेता लिऊ-शियाओबो का निधन हो गया। वे लिवर कैंसर से पीड़ित थे। 61 साल के लिऊ ने सरकार के खिलाफ लेख लिखा था। 2009 में उन्हें 11 साल की सजा हुई। 2010 में शांति का नोबेल पुरस्कार मिला, पर सरकार की पाबंदियों की वजह से वे यह पुरस्कार ग्रहण करने ओस्लो नहीं जा सके थे। शियाओबो चीन में काफी समय से लोकतंत्र के समर्थन में आवाज़ उठा रहे थे।
यूनिवर्सिटी प्रोफेसर से मानवाधिकार आंदोलन के पुरोधा बने शियाओबो को चीन के अधिकारियों ने अपराधी और देशद्रोही बताया था। चीन में तानाशाही सरकार के खिलाफ आवाज बुलंद करने के कारण शियाओबो को कई बार जेल जाना पड़ा था। ज्ञात रहे कि उन्हें 2009 में 11 साल कैद की सजा सुनाई गई थी।