| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | संपर्क करें | साईट मेप
You Tube

इराक की मोसुल फतह को यूएन ने आतंकवाद के खिलाफ माना महत्वपूर्ण

संयुक्त राष्ट्र ने आईएस के कब्जे वाले इराकी शहर मोसुल पर पुनः नियंत्रण को आतंकवाद और हिंसक उग्रवाद के खिलाफ लड़ाई में एक महत्वपूर्ण कदम करार दिया है।
संयुक्त राष्ट्र ने विस्थापित समुदायों की सहायता करने और मुक्त कराए गए क्षेत्रों में कानून का शासन बहाल करने में समर्थन देने का वादा भी किया। संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र विस्थापित समुदायों की स्वैच्छिक, सुरक्षित और प्रतिष्ठित वापसी के लिए आवश्यक परिस्थितियाँ बहाल करने के लिए इराकी सरकार के साथ खड़ा होगा। संयुक्त राष्ट्र के को-ऑर्डिनेशन ऑफ ह्यूमेनेटेरियन अफेयर्स (ओसीएचए) का कहना है कि अक्टूबर 2016 में मोसुल पर पुनः नियंत्रण के लिए सैन्य अभियान शुरू होने के बाद से करीब 9,20,000 नागरिकों ने अपना घर छोड़ा है।
    अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इराक के मोसुल शहर को आतंकी संगठन आईएस से मुक्त कराने की प्रशंसा की और बधाई दी।
   संयुक्त राष्ट्र मुक्त कराए गए क्षेत्रों में कानून का शासन, हिंसा को रोकने और सभी कानूनी उल्लंघनों को रोकने में इराकी सरकार की मदद करेगा।
   इराक ने मोसुल में इस्लामिक स्टेट समूह पर पूर्ण जीत घोषित की है।
   गुटेरेस ने इराकी सरकार के लोगों के साहस, प्रतिबद्धता और दृढ़ता की प्रशंसा की है।