Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh

विश्व उपभोक्ता संरक्षण दिवस

ग्रामीण अंचलों में उपभोक्ताओं को जागरूक करने के होंगे प्रयास

उपभोक्ता मामलों के निराकरण में तेजी लाने की जरूरत

भोपाल, मध्यप्रदेश में उपभोक्ताओं को जागरूक करने के लिये काफी काम किये जा रहे हैं। प्रदेश के दूरस्थ और ग्रामीण अंचलों में उपभोक्ताओं को जागरूक करने के ठोस प्रयास किये जायें। उपभोक्ता मामलों के निराकरण में और तेजी लाने की जरूरत है। यह बात खाद्य नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता संरक्षण मंत्री श्री ओमप्रकाश धुर्वे ने भोपाल में राज्य स्तरीय विश्व उपभोक्ता संरक्षण दिवस कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कही।

श्री धुर्वे ने कहा कि भोपाल, इंदौर, ग्वालियर आदि नगरीय क्षेत्र में अधिक मामले दर्ज होते हैं। यह नगरीय क्षेत्र में उपभोक्ताओं की जागरूकता होने को दिखाता है। कुछ जिलों में मामलों का दर्ज न होना दर्शाता है कि उपभोक्ता जागरुकता कार्यक्रम ग्रामीण क्षेत्रों में भी संचालित किये जायें। मंत्री श्री धुर्वे ने कहा कि ऐसी स्वैच्छिक संस्थाओं को अनुदान देने में प्राथमिकता दी जाये।

प्रमुख सचिव श्री के.सी. गुप्ता ने बताया कि खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग 2 से 3 माह के भीतर कंज्यूमर हेल्पलाइन शुरू करवायेगा। हेल्पलाइन के टोल-फ्री नम्बर पर उपभोक्ता शिकायत कर जानकारी भी प्राप्त कर सकेंगे।

यह हुए सम्मानित

कार्यक्रम में वर्ष 2016 के लिये राज्य-स्तर पर विंध्य उपभोक्ता संरक्षण परिषद सीधी के श्री हरीश मिश्रा को प्रथम, कंज्यूमर एण्ड सिविल राइट्स एसोसिएशन ग्वालियर की श्रीमती ममता सिंह को द्वितीय और आशा स्मिता फाउण्डेशन भोपाल की श्रीमती स्मिता सक्सेना को तृतीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया। निबंध और पोस्टर प्रतियोगिता में चयनित 6 छात्र-छात्राओं को भी पुरस्कार दिये गये। उत्कृष्ट स्टॉलों के लिये नाप-तौल, खाद्य एवं औषधि प्रशासन और आशा स्मिता फाउण्डेशन को भी सम्मानित किया गया।