Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh

 

ग्वादर बंदरगाह और हिन्द महासागर में चीन तैनात करेगा अपने नौसैनिक

 

चीन ग्वादर बंदरगाह और हिन्द महासागर में अपने नौसैनिकों की अधिक संख्या में तैनाती करने जा रहा है। वर्तमान में तकरीबन 20,000 सैनिक तैनात हैं लेकिन चीन पहली बार तकरीबन 11 लाख तक नये नौसैनिकों की तैनाती की योजना पर अमल करने जा रहा है। चीन अपनी सीमा के बाहर जिन जगहों पर अपने नौसैनिकों को तैनात करेगा, उनमें बलूचिस्तान स्थित ग्वादर बंदरगाह भी शामिल है। इसके अलावा वह हिन्द महासागर के जिबूती मिलेट्री लॉजिस्टिक बेस पर तैनात मरीन कॉर्प्स की तादाद भी बढ़ाने जा रहा है। ज्ञात रहे कि ग्वादर गहरे समुद्र का अहम बंदरगाह है। यह फारस की खाड़ी के अंदर मुख्य तेल मार्ग में स्थित है। इसके निर्माण की लागत का खर्च चीन ने दिया है। यह माना जा रहा है कि आने वाले दिनों में अपने बेड़े  नौसैनिकों सहित तैनात कर देगा। ग्वादर बंदरगाह 30 खरब से ज्यादा की लागत से तैयार चीन-पाकिस्तान इकॉनॉमिक कॉरिडोर के लिये भी सामरिक रूप से काफी अहम है। ज्ञात रहे कि पिछले कुछ समय से चीन लगातार अपनी सैन्य शक्तियों के विस्तार में लगा है और आधुनिकीकरण के नाम पर वह दुनिया के सामने वर्चस्व साबित करने के लिये नौसैनिकों की तैनाती पर जोर दे रहा है।