Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh
social media accounts

एक्सीलेंस अवार्ड्स वितरण कार्यक्रम
मध्यप्रदेश के विकास के लिये तैयार है विजन 2023 - मुख्यमंत्री
मध्यप्रदेश में शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में किये जा रहे हैं विशेष प्रयास

भोपाल, मध्यप्रदेश सरकार ने प्रदेश को देश का सर्वश्रेष्ठ राज्य बनाने का संकल्प लिया है। सरकार ने प्रदेश के विकास के लिये विजन 2023 तैयार किया है। प्रदेश में शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में विशेष प्रयास किये जा रहे हैं। पिछले पाँच वर्षों से प्रदेश की कृषि विकास दर 20 प्रतिशत से अधिक बनी हुई है। यह बात मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल में आईबीसी-24 समाचार चैनल द्वारा आयोजित एक्सीलेंस अवार्ड्स वितरण कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कही।

  • प्रदेश में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा व्यवस्था के लिये किये जायेंगे नवाचारी प्रयास।
  • मध्यप्रदेश में सिंचाई क्षमता हुई 40 लाख हेक्टेयर।
  • नर्मदा-क्षिप्रा लिंक परियोजना के बाद गंभीर नदी को भी नर्मदा से जोड़ा जायेगा।
  • प्रदेश में स्व-रोज़गार के लिये सौ करोड़ रुपये का वेंचर केपीटल फंड बनाया गया।

श्री चौहान ने कहा कि 12 वर्ष पूर्व मध्यप्रदेश की विकास दर ऋणात्मक तक हो जाती थी। बजट मात्र 21 हजार करोड़ रुपये का था, जिसमें विकास कार्यों के लिये केवल पाँच हजार करोड़ रुपये उपलब्ध होते थे। प्रति व्यक्ति आय भी केवल 13 हजार रुपये होती थी। लेकिन आज मध्यप्रदेश की विकास दर पिछले आठ वर्षों से 10 प्रतिशत के आस-पास है, जो देश में दूसरे स्थान पर है।

श्री चौहान ने महिलाओं के सशक्तीकरण के प्रयासों का उल्लेख करते हुये कहा कि सरकार प्रदेश में बेटी को देवी मानकर कार्य कर रही है। शासकीय कार्यक्रम के प्रारंभ में वे स्वयं बेटियों के चरण धोकर उसे माथे पर लगाते हैं। प्रदेश की 26 लाख बेटियाँ लखपति हैं। जब वे 21 वर्ष की होंगी, तो सरकारी खजाने से 32 हजार करोड़ रुपए उनके खाते में जायेगा। स्थानीय निकायों के चुनावों में 56 प्रतिशत महिला जनप्रतिनिधि हैं। यह सरकार द्वारा निकायों के चुनाव में 50 प्रतिशत आरक्षण देने की व्यवस्था से हुआ है। सरकार ने अध्यापकों के पदों पर 50 प्रतिशत तथा वन विभाग को छोड़कर पुलिस विभाग सहित शेष सभी सरकारी विभागों में 33 प्रतिशत आरक्षण की व्यवस्था कर दी है।

गरीब कल्याण एजेण्डे पर मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रगति का लाभ अंतिम व्यक्ति तक पहुँचें, यही सही विकास है। सरकार ने सामाजिक न्याय की व्यवस्था को सुदृढ़ बनाने का प्रयास किया है। सस्ता खाद्यान्न, निःशुल्क उपचार के साथ ही हर व्यक्ति को रहने लायक जमीन के टुकड़े का कानूनी अधिकार दिया है। स्वास्थ्य के क्षेत्र में सात नये चिकित्सा महाविद्यालय खोले जा रहे हैं। ज्यादा डॉक्टर होंगे, तो ज्यादा अस्पताल बनेंगे। जहाँ अस्पताल नहीं पहुँच पायेंगे, वहाँ सर्वसुविधायुक्त मोबाइल चिकित्सालय पहुँचाने का कार्य किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री ने बच्चों के साथ आत्मीय संबंधों का उल्लेख करते हुये कहा कि प्रतिभा के मार्ग में पैसा बाधा नहीं बने, इसके प्रयास हुये हैं। मुख्यमंत्री मेधावी विद्यार्थी प्रोत्साहन योजना द्वारा प्रतिभावान बच्चों को उच्च शिक्षा के अवसर उपलब्ध करवाये गये हैं। समाज के हर वर्ग के कल्याण के कार्य किये गये हैं।