Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh

‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ हस्ताक्षर महाभियान
आमजन को दी जायेगी बेटियों की सुरक्षा के लिये बने कानूनों की जानकारी
 

भोपाल, मध्यप्रदेश में महिलाओं और बालिकाओं की सुरक्षा और सम्मान पर किसी भी तरह का खतरा नहीं आने दिया जायेगा। प्रदेश में महिलाओं और बालिकाओं की सुरक्षा के लिये बनाये गये कानूनों की जानकारी देने के लिये अभियान चलाया जायेगा। यह बात मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल में ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ के लिये बुरहानपुर जिले में चलाये गये हस्ताक्षर महाअभियान के संकल्प पत्र वितरित करते हुये कही।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने हस्ताक्षर महाअभियान की सराहना करते हुये  महिला एवं बाल विकास विभाग को पूरे प्रदेश के लिये हस्ताक्षर महाअभियान का स्वरूप तैयार करने के निर्देश दिये।

मुख्यमंत्री ने कहा कि समाज और सरकार को मिलकर बेटियों की गरिमा बचाने, उन्हें पढ़ाने और आगे बढ़ाने के लिये काम करना पड़ेगा। उन्होंने हस्ताक्षर महाअभियान में शामिल होने वाले लोगों को महिला सशक्तिकरण संबंधी कानूनों की जानकारी देने के लिये भी छोटे-छोटे सत्र चलाने के भी निर्देश दिये। मुख्यमंत्री ने इस महाअभियान को जनअभियान बनाने के निर्देश देते हुये कहा कि हर जिले में बेटियों के जन्म का उत्सव मनाने और महिलाओं और बेटियों से छेड़छाड़ करने वालों का सामाजिक बहिष्कार करने जैसी गतिविधियों को प्राथमिकता के साथ लागू करें।

उल्लेखनीय है कि हाल ही में बुरहानपुर जिले में ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ के लिये नागरिकों से संकल्प पत्र भरवाकर हस्ताक्षर कराने का महाअभियान चलाया गया था। इसके लिये एक हजार 205 से ज्यादा हस्ताक्षर बूथ बनाये गये थे। सरकारी और गैरसरकारी लोगों के सहयोग से एक हजार 300 सहायता दल गठित किये गये थे। हस्ताक्षर महाअभियान में छह लाख 53 हजार 330 संकल्प पत्र भरवाये गये।