Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh

 
माँ कंकाली कृषि समूह का वार्षिक टर्न ओवर हुआ चार करोड़ रुपये
 

उमरिया जिले के घुनघुटी एवं शहडोल जिले के विचारपुर क्षेत्र में किसानों ने शासकीय सहायता से सब्जी उत्पादन के क्षेत्र में नये कीर्तिमान स्थापित किये हैं। किसानों द्वारा उत्पादित टमाटर और अन्य सब्जियां ट्रकों में भरकर दिल्ली, बेंगलुरु और देश के अन्य बड़े बाजारों में पहुँचाई जा रही हैं, जिससे किसानों को सीधा लाभ मिल रहा है। माँ कंकाली कृषि समूह के किसानों के सब्जी उत्पादन का वार्षिक टर्न ओवर लगभग चार करोड़ रुपये का हो गया है। इस समूह में लगभग दो सौ लोगों को रोज़गार मिला है।

शहडोल जिले के प्रगतिशील किसान पवन मिश्रा ने इसकी शुरुआत पहले शहडोल जिले के विचारपुर और सिंदुरी क्षेत्र से की। उन्होंने उद्यानिकी विभाग के अधिकारियों की सलाह पर 10 वर्ष पूर्व ग्राम सिंदुरी और विचारपुर में 10 एकड़ भूमि पर टमाटर की खेती की शुरुआत की थी। टमाटर की उन्नत खेती के लिये कृषि और उद्यानिकी विभाग के अधिकारियों द्वारा उन्हें तकनीकी मार्गदर्शन दिया गया। साथ ही ड्रिप इरीगेशन के लिये पाँच लाख रुपये की राशि बैंक के माध्यम से उन्हें मुहैया कराई गई।

टमाटर की खेती से लाभ पाने के बाद उन्होंने टमाटर के साथ मिर्ची, लौकी, खीरा, बरबटी, आलू, लहसुन और प्याज की खेती भी प्रारंभ की। सब्जियों की खेती करने से काफी लाभ के कारण उन्होंने अन्य किसानों को भी समूह बनाकर सब्जी की खेती करने की सलाह दी। जिसके फलस्वरूप आठ किसानों ने माँ कंकाली कृषि समूह बनाया और घुनघुटी क्षेत्र में लगभग 125 एकड़ भूमि पर सब्जी की उन्नत खेती करने की कार्य-योजना बनाई।