Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh

 
अप्रैल से अक्टूबर के बीच देश में आया 45 अरब डॉलर का विदेशी निवेश
 

नई दिल्ली, इस साल अप्रैल से अक्टूबर महीने के बीच देश में करीब 45 अरब डॉलर का विदेशी निवेश आया है। यह पिछले साल इसी दौरान देश में हुए विदेशी निवेश से 20 फीसदी ज्यादा है। इसमें बुनियादी सुधारों के दौर से गुजर रही भारतीय अर्थव्यवस्था के बेहतर आउटलुक का बड़ा हाथ रहा है। दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था के लिए डॉलर का प्रवाह बढ़ने के साथ अमेरिका और ब्रिटेन सहित दुनिया भर के देशों की मॉनेटरी पॉलिसी में सख्ती सकारात्मक रही है। जानकारों का कहना है कि गुजरात में भाजपा के सत्ता में बने रहने से केंद्र में राजनीतिक स्थिरता को बढ़ावा मिला है और निर्यात में तेज उछाल आने से व्यापार घाटा कम हुआ है। इन सबके चलते देश में दीर्घकालिक और अल्पकालिक दोनों तरह के विदेशी निवेश की रफ्तार बनी रह सकती है। आंकड़ों की बात करें तो नवंबर महीने में आयात में सालाना आधार पर 19.6 फीसदी की उछाल आई है, लेकिन इससे व्यापार घाटा पर दबाव नहीं बना, क्योंकि इस दौरान निर्यात में 30 फीसदी विकास दर दर्ज की गई।