Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh
social media accounts

राष्ट्रीय पोषण मिशन
पोषण स्तर में सुधार के लिये मध्यप्रदेश में आठ विभाग समन्वित रूप से करेंगे कार्य

भोपाल, बच्चों एवं महिलाओं को कुपोषण से बचाने के लिये देश में राष्ट्रीय पोषण मिशन चलाया जा रहा है। मध्यप्रदेश में मिशन के तहत पोषण स्तर में सुधार के लिये 8 विभाग समन्वित रूप से कार्य करेंगे। यह बात महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनिस ने भोपाल में ‘राष्ट्रीय पोषण मिशन’ की समन्वित कार्य योजना निर्माण संबंधी बैठक को संबोधित करते हुये कही।

श्रीमती चिटनिस ने कहा कि मिशन का लक्ष्य 2019-20 तक बच्चों, किशोरी बालिकाओं, गर्भवती और धात्री माताओं के स्वास्थ्य और पोषण स्तर से संबंधित 5 बिन्दुओं में सुधार लाना है। चरणबद्ध रूप से लक्ष्य प्राप्ति के लिये विकासखंड, जिला और राज्य स्तर पर वर्षवार कार्ययोजना बनाई जायेगी। श्रीमती चिटनिस ने पोषण जागरूकता के लिये सघन रूप से कार्य करने तथा पोषण साक्षरता को शाला एवं कॉलेज स्तर के पाठ्यक्रमों में सम्मिलित करने की आवश्यकता बताई।

बैठक में जानकारी दी गई कि 2019-20 तक ठिगनेपन, बच्चों के अल्प-पोषण तथा कम वजन के साथ जन्म लेने वाले बच्चों की संख्या में 6 प्रतिशत कमी लाने का लक्ष्य रखा गया है।

बच्चों, किशोरियों, गर्भवती एवं धात्री माताओं में एनीमिया के प्रसार में 9 प्रतिशत कमी का लक्ष्य है। इसके लिये ग्राम, विकासखंड तथा जिला स्तर पर स्तनपान, स्वच्छ पेयजल, स्वच्छता, आवश्यक दवाओं की उपलब्धता, गर्भवती माता और प्रसव के दौरान देखभाल, संस्थागत प्रसव जैसे संवेदनशील कार्यों को सम्मिलित कर कार्य-योजना का निर्माण किया जायेगा।

कार्ययोजना क्रियान्वयन के लिये पंचायत एवं ग्रामीण विकास, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, स्कूल शिक्षा, खाद्य आपूर्ति और उपभोक्ता संरक्षण, नगरीय विकास एवं आवास, लोक स्वास्थ्य एवं यांत्रिकी विभाग, जनजातीय कार्य तथा महिला बाल विकास विभाग समन्वित रूप से कार्य करेंगे। इस संबंध में इन सभी 8 विभागों के प्रमुख सचिव द्वारा समन्वित रूप से आदेश जारी किया जा रहा है।