Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh

भोपाल को संस्कार और मूल्य आधारित स्मार्ट सिटी बनाने में जनता करे सहयोग

भोपाल, उच्च नागरिक संस्कारों के प्रतीक शहर के रूप में भोपाल अपनी जगह बनाये, इसके लिये नागरिकों को सरकार का सहयोग करना होगा। राज्य सरकार भोपाल को संस्कार और मूल्यों पर आधारित स्मार्ट सिटी बनाना चाहती है। यह बात मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कार्पोरेशन द्वारा किये जा रहे क्षेत्र आधारित विकास कार्यों के अंतर्गत शासकीय बहुमंजिला आवासों का भूमिपूजन करते हुए कही।

श्री चौहान ने नागरिकों से आग्रह किया कि वे भोपाल को न सिर्फ देश, बल्कि विश्व के बेहतरीन शहरों में शामिल करने में कोई प्रयास अधूरे नहीं छोड़ें। उन्होंने कहा कि भोपाल को झुग्गी मुक्त शहर बनाने में किसी प्रकार की कसर नहीं छोड़ेंगे। श्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना में 51 हजार 894 मकान बनाकर जरूरतमंदों को दिए जा रहे हैं। इस योजना में 13 हजार से ज्यादा मकान बन चुके हैं।

मुख्यमंत्री ने शौर्य स्मारक का उल्लेख करते हुए कहा कि अब यह देशभक्ति का संस्कार देने का प्रेरणा केन्द्र बन चुका है। उन्होंने बताया कि भारत माता मंदिर परिसर के निर्माण के लिए जमीन आवंटित कर दी गई है। भोपाल में रानी कमलापति की प्रतिमा भी स्थापित की जाएगी।

पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री गोपाल भार्गव ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के स्मार्ट शहरों के सपने को मुख्यमंत्री श्री चौहान साकार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि भोपाल शहर को स्मार्ट बनाने के साथ शिक्षा, संस्कार और नागरिक कर्तव्यों के पालन में भी स्मार्ट बनाया जाना चाहिये। राजस्व मंत्री श्री उमाशंकर गुप्ता ने कहा कि स्मार्ट सिटी, प्रकृतिजन्य सुंदर शहर के बीच भोपाल की शान होगी और शहर का गौरव बढ़ाएगी। भोपाल के महापौर श्री आलोक शर्मा ने बताया कि भविष्य की जरूरतों को ध्यान में रखकर स्मार्ट सिटी के विकास का रोडमैप बनाया गया है।