Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh

 
मध्यप्रदेश में राष्ट्रीय बाघ गणना का प्रथम चरण शुरू
 

भोपाल, मध्यप्रदेश के सभी टाईगर रिज़र्व में राष्ट्रीय बाघ आकलन का प्रथम चरण शुरू हो गया है। इस चरण में माँसाहारी बाघ, तेन्दुआ आदि वन्य प्राणियों के पगमार्क और शाकाहारी प्राणियों की प्रत्यक्ष गिनती होगी। इसके अलावा वन्य प्राणियों के आवास, आहार उपलब्धता और पेड़-पौधों आदि का भी अध्ययन किया जायेगा। वन अधिकारियों और कर्मचारियों के साथ विभिन्न राज्यों से आये हुए वालेन्टियर भी गणना में भाग ले रहे हैं। गणना पांच फरवरी से 26 मार्च तक चार चरणों में होगी।

राष्ट्रीय बाघ आकलन में गुजरात, कर्नाटक, आंध्रप्रदेश, उत्तरप्रदेश आदि राज्यों के स्वयंसेवक और विषय विशेषज्ञ भी भाग ले रहे हैं। स्वंयसेवकों को गणना के पूर्व प्रशिक्षित किया गया है। इनमें युवा वर्ग के साथ महिलाएं और बुजुर्ग भी शामिल हैं। अगले चरण में भाग लेने के इच्छुक स्वयंसेवक वन विभाग की वेबसाइट पर जाकर पंजीयन करा सकते हैं।

जन सामान्य की वन्य प्राणी प्रबंधन में भागीदारी सुनिश्चित करने, एकत्रित आंकड़ों की गुणवत्ता बढ़ाने और पारदर्शिता लाने के उद्देश्य से स्वयंसेवकों को शामिल करने का निर्णय लिया गया है।