Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh
social media accounts

 
उद्यानिकी फसलों से कौशल किशोर बने प्रगतिशील किसान
 

पन्ना, मध्यप्रदेश में किसानों की आमदनी दोगुना करने के लिये राज्य सरकार के प्रयासों का असर किसानों की बढ़ती आमदनी के रूप में देखने को मिल रहा है। ऐसे ही किसान हैं, पन्ना जिले के अजयगढ़ विकासखण्ड के ग्राम सिंहपुर के कौशल किशोर। इनके पास 2.63 हेक्टेयर सिंचित भूमि है, जिसके अधिकांश भाग में पहले वे कृषि की परम्परागत फसलें लिया करते थे, जबकि केवल 0.30 हेक्टेयर भूमि में ही उद्यानिकी फसल लेते थे। परम्परागत फसलों और उद्यानिकी फसलों के छोटे रकबे होने के कारण उन्हें सब खर्च काटकर नाममात्र की बचत हो पाती थी।

कौशल किशोर की उद्यानिकी विभाग के अधिकारियों से चर्चा हुई। चर्चा के बाद कौशल किशोर ने उद्यानिकी फसलों में सब्जी के उत्पादन का रकबा बढ़ाया। साथ ही, एक हेक्टेयर रकबे में ड्रिप सिंचाई योजना का लाभ भी लिया। इसके बाद उनके खेत में सब्जी का उत्पादन डेढ़ गुना तक बढ़ गया है।

कौशल किशोर ने अपने खेत में ड्रिप सिंचाई का रकबा और अधिक बढ़ाया है। इसके बाद ही इन्हें ‘आत्मा परियोजना’ में सर्वोत्तम सब्जी उत्पादक किसान के रूप में पुरस्कार भी मिला है।  उद्यानिकी विभाग के अधिकारियों ने इनकी रुचि को देखते हुए इन्हें अध्ययन भ्रमण पर भी भेजा। भ्रमण से लौटकर इन्होंने अपने खेत के दो हेक्टेयर रकबे में सब्जी और मसालों का उत्पादन भी शुरू किया है।