Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh

 
स्व-रोज़गार योजनाओं का लाभ लेकर युवा बन रहे सफल उद्यमी
 

भोपाल, मध्यप्रदेश सरकार द्वारा युवाओं को स्व-रोज़गारी बनाने के लिये शुरू की गयी विभिन्न योजनाओं के सुपरिणाम सामने आने लगे हैं। प्रदेश के युवा इन योजनाओं के माध्यम से स्व-रोज़गार स्थापित कर जहाँ स्वयं अच्छी आय अर्जित कर रहे हैं, वहीं कई अन्य कुशल युवाओं को रोज़गार भी दे रहे हैं।

कुछ सफल उद्यमियों की बात करें तो सतना के आनंद गुप्ता ने मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना में 65 लाख रुपये का लोन लेकर राउटेड मेम्ब्रेन डोर का निर्माण शुरू किया। उनकी कम्पनी मेसर्स श्याम नेट सलुशन नौ लोगों को रोज़गार भी दे रही है।

रायसेन की संगीता बंशकार ने मुख्यमंत्री स्व-रोज़गार योजना में पांच लाख रुपये का लोन लेकर आधुनिक मशीनों से युक्त ब्यूटी पार्लर खोला। इन्हें प्रतिमाह 20 से 25 हजार रुपये की आय हो रही है।

बुरहानपुर के आकाश कभी दूसरे के जिम में प्रशिक्षण देकर बमुश्किल पांच से छह हजार रुपये प्रतिमाह कमाते थे, आज वे मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना की सहायता से स्वयं का जिम स्थापित कर 25-30 हजार रुपये प्रतिमाह कमा रहे हैं।

कटनी के ग्राम चाका के रहीम ने मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजना में 50 हजार रुपये का लोन लेकर चिकन सेंटर शुरू किया। रहीम अब प्रतिदिन आठ सौ से एक हजार रुपये की कमाई कर रहे हैं।

इसी तरह कटनी जिले के ही ग्राम गनियारी निवासी विपिन तिवारी ने मुख्यमंत्री स्व-रोज़गार योजना की मदद से आटा चक्की स्थापित की। इन्हें आटा चक्की के लिये सत्तर हजार रुपये का लोन मिला था।