Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh
social media accounts

भुवन भूषण देवलिया स्मृति व्याख्यानमाला
पत्रकारिता के क्षेत्र में विश्वसनीयता बनाये रखना जरूरी - उमाशंकर गुप्ता
विचार और बाजार के बीच सामंजस्य कायम रखने की जरूरत

भोपाल, आज विश्वसनीयता का संकट चहुंओर है, इसमें पत्रकारिता भी अछूती नहीं है। पत्रकारिता के क्षेत्र में विश्वसनीयता बनाये रखना बेहद जरूरी है। मौजूदा समय में बाजार और विचार के बीच सामंजस्य कायम करने की जरूरत है। यह चिंता नहीं, चिंतन का विषय है। बाजार विचार को सिर्फ प्रभावित कर सकता है, दबा नहीं सकता। यह बात राजस्व विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री श्री उमाशंकर गुप्ता ने भोपाल स्थित माधव राव सप्रे स्मृति समाचार-पत्र संग्रहालय एवं शोध संस्थान में ‘भुवन भूषण देवलिया स्मृति व्याख्यान-माला’ विचार यात्रा से बाजार यात्रा तक को संबोधित करते हुये कही।

इस अवसर पर श्री गुप्ता ने दैनिक भास्कर ग्वालियर के पत्रकार श्री अनिल पटेरिया को भुवन भूषण देवलिया स्मृति सम्मान से सम्मानित किया। सम्मान के रूप में 11 हजार रुपये, प्रशस्ति-पत्र और शॉल-श्रीफल भेंट किया गया।

कार्यक्रम में दैनिक भास्कर, नागपुर के समूह सम्पादक श्री प्रकाश दुबे ने कहा कि श्री देवलिया ऐसे गुरु थे, जो सभी विद्यार्थियों को बेहतर प्रशिक्षण देते थे, लेकिन किसी एकलव्य का अँगूठा नहीं माँगते थे। उन्होंने मीडिया पर बाजार की निर्भरता और उसके प्रभावों के संबंध में भी विस्तार से चर्चा की।

वरिष्ठ पत्रकार श्री मुकेश कुमार ने कहा कि टीआरपी को बाजार ने टूल की तरह इस्तेमाल किया है। वर्तमान में बाजार ही मीडिया की नीति तय करता है। उन्होंने पोस्ट-ट्रुथ, पोस्ट-डेमोक्रेसी और पोस्ट-इन्वायरमेंट के बारे में भी बताया।