Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh
social media accounts

भावांतर भुगतान योजना
रबी फसलों के लिये एक लाख 60 हजार 206 किसानों ने कराया पंजीयन
 

भोपाल, मध्यप्रदेश में रबी सीजन 2017-18 में चार फसलों चना, सरसों, प्याज और मसूर के लिये प्रदेश के 257 कृषि उपज मंडी समितियों में भावांतर भुगतान योजना में किसानों का पंजीयन 12 फरवरी से लगातार किया जा रहा है। पंजीयन का कार्य तीन हजार पांच सौ प्राथमिक कृषि सहकारी समितियों में भी किया जा रहा है।

भावांतर भुगतान योजना में निःशुल्क पंजीयन का कार्य 12 मार्च तक किया जायेगा। अब तक प्रदेश में भावांतर भुगतान योजना के पोर्टल पर एक लाख 60 हजार 206 किसानों ने पंजीयन कराया है। चना फसल के लिये एक लाख 25 हजार 549 किसानों ने, सरसों के लिये 20 हजार 347 किसानों ने, प्याज के लिये नौ हजार 593 और मसूर के लिये 30 हजार 430 किसानों ने पंजीयन करवाया है। प्रमुख सचिव किसान कल्याण एवं कृषि विकास डॉ. राजेश राजौरा ने जिला कलेक्टरों को निर्देश दिये हैं कि रबी सीजन में भावांतर भुगतान योजना में फसलों की पंजीयन व्यवस्था को अधिक प्रभावी बनायें।

निःशुल्क पंजीयन व्यवस्था

रबी सीजन में भावांतर भुगतान योजना में किसानों के निःशुल्क पंजीयन की व्यवस्था की गयी है। किसानों को पंजीयन कराने के लिये आधार कार्ड, समग्र आईडी, ऋण पुस्तिका और बैंक पास बुक की फोटोकॉपी जमा करवानी होगी।

मध्यप्रदेश राज्य कृषि विपणन (मंडी) बोर्ड के प्रबंध संचालक श्री फैज अहमद किदवई ने भी पंजीयन व्यवस्था के संबंध में जिला कलेक्टरों से कहा है कि प्रति किसान औसत दो हेक्टेयर लैंड-होल्डिंग के मान से जिले में किसानों की संख्या का आंकलन कर विशेष अभियान चलाकर शत-प्रतिशत पंजीयन की कार्यवाही की जाये।