Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh
social media accounts

पिछड़ा वर्ग महाकुंभ
राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग के गठन के किये जायेंगे प्रयास - मुख्यमंत्री

सागर, मध्यप्रदेश में पिछड़ा वर्ग के लोगों के कल्याण के लिये कई कार्य किये जा रहे हैं। पिछड़ा वर्ग के युवाओं में प्रतिभा, क्षमता और योग्यता की कोई कमी नहीं है, इन्हें शिक्षा एवं रोज़गार के क्षेत्र में सभी सुविधायें उपलब्ध करवाई जायेंगी। राज्य सरकार द्वारा पिछड़ा वर्ग के लिये केंद्र सरकार से राष्ट्रीय आयोग गठित करने और उसे संवैधानिक दर्जा दिलाने के प्रयास किये जायेंगे। यह बात मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने सागर जिले के ग्राम बामौरा में पिछड़ा वर्ग महाकुंभ को संबोधित करते हुये कही। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने पिछड़ा वर्ग की 15 विभूतियों को मध्यप्रदेश रामजी महाजन पिछड़ा वर्ग सेवा राज्य पुरस्कार भी प्रदान किये।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने अन्य पिछड़ा वर्ग के विकास के लिये 5 हजार 973 करोड़ रुपये की राशि आर्थिक सहायता और अनुदान के रूप में खर्च की है। राज्य सरकार की यह कोशिश निरंतर जारी रहेगी। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री पिछड़ा वर्ग स्व-रोज़गार योजना में पिछले वित्त वर्ष में 111 करोड़ रुपये खर्च कर युवाओं को स्व-रोज़गार से लगाया गया है। श्री चौहान ने प्रधानमंत्री फसल बीमा, मुख्यमंत्री कृषक समृद्धि, समर्थन मूल्य पर अनाज खरीदी, स्व-रोज़गार योजनाओं और मुख्यमंत्री असंगठित श्रमिक कल्याण योजना की जानकारी देते हुये कहा कि पात्र व्यक्ति योजनाओं का लाभ उठायें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अन्य पिछड़ा वर्ग के विद्यार्थियों के लिये इसी शिक्षा सत्र से विकासखण्ड स्तर पर छात्रावास खोले जायेंगे। छात्रावास के प्रारंभ होने तक किराये के भवन में छात्रावास संचालित किये जायेंगे।