Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh
social media accounts

असंगठित श्रमिक एवं तेंदूपत्ता संग्राहक सम्मेलन
स्व-सहायता समूहों को आर्थिक रूप से बनाया जायेगा मजबूत - मुख्यमंत्री
भूमिहीन वनवासी आदिवासियों को दिये जायेंगे वनाधिकार पट्टे

सिवनी, मध्यप्रदेश में महिला सशक्तिकरण की दिशा में कई प्रयास किये जा रहे हैं। प्रदेश में महिला स्व-सहायता समूहों को आजीविका मिशन और कौशल विकास कार्यक्रम के अंतर्गत आर्थिक रूप से सशक्त बनाया जायेगा। इसके लिये ऋण एवं अनुदान उपलब्ध कराया जायेगा। यह बात मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने सिवनी जिले में ‘असंगठित श्रमिक एवं तेंदूपत्ता संग्राहक सम्मेलन’ को संबोधित करते हुये कही। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि भूमिहीन वनवासी आदिवासियों को वनाधिकार पट्टे दिये जायेंगे।

इस दौरान मुख्यमंत्री ने सिवनी जिले के 50 हजार 600 तेंदूपत्ता संग्राहक परिवारों के एक लाख 89 हजार 817 सदस्यों के बैंक खातों में वर्ष 2016-17 की बोनस राशि 9 करोड़ 99 लाख रुपये लैपटॉप के माध्यम से ऑनलाइन जमा कराई। मुख्यमंत्री ने सम्मेलन में 50 हजार 642 पुरुष तेंदूपत्ता संग्राहकों को चरण पादुका और पानी की बॉटल एवं 50 हजार 563 महिला तेंदूपत्ता संग्राहकों को चरण पादुका, पानी की बॉटल और साड़ी वितरित की।

श्री चौहान ने कहा कि असंगठित श्रमिकों और उनके परिवारों के आर्थिक और सामाजिक उत्थान के लिये सभी संभव प्रयास किये जा रहे हैं। उन्हें शासन की योजनाओं का भरपूर लाभ दिया जाना सुनिश्चित किया जायेगा। श्री चौहान ने असंगठित श्रमिकों से आग्रह किया कि वे ग्राम पंचायतों में आयोजित की जा रहीं विशेष ग्रामसभाओं में पढ़ी जाने वाली सूची में नाम नहीं होने पर, नाम अवश्य जुड़वायें।

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने असंगठित श्रमिक एवं तेंदूपत्ता संग्राहक सम्मेलन में सिवनी जिले में 5 अरब 31 करोड़ रुपये की लागत के 13 निर्माण कार्यों का भूमि-पूजन और लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि सिवनी में शासकीय मेडिकल कॉलेज खोला जायेगा। नल-जल योजना के माध्यम से पेयजल उपलब्ध करवाया जायेगा। कुरई में कॉलेज खोला जायेगा। छपारा कॉलेज में बी.ए. पाठ्यक्रम के साथ ही बीएससी पाठ्यक्रम की कक्षायें भी प्रारंभ की जायेंगी।

श्री चौहान ने सम्मेलन में उपस्थित विशाल जन-समुदाय को बच्चों को स्कूल भेजकर पढ़ाने, गांव को स्वच्छ रखने, पानी बचाने और पौधा लगाने का संकल्प दिलाया। उन्होंने इस अवसर पर तेंदूपत्ता संग्राहकों और अन्य योजनाओं के हितग्राहियों को सहायता राशि के चेक तथा अन्य हित-लाभ वितरित किये।