| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | हिन्दी | English | संपर्क करें | साइट मेप
You Tube
पिछला पृष्ठ

View in EnglishDownload Kruti News Download Chanakya News

कॅरियर जीवन नहीं, जीवन का हिस्सा

अवसादग्रस्त विद्यार्थी आत्म-विश्वास लाये
सरोजनी नायडू शा. कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय के कॅरियर अवसर मेला में उच्च शिक्षा मंत्री श्री पवैया

भोपाल : सोमवार, मार्च 20, 2017, 18:51 IST
 

उच्च शिक्षा मंत्री श्री जयभान सिंह पवैया ने कहा है कि कॅरियर जीवन नहीं, जीवन का हिस्सा है। श्री पवैया ने यह बात आज सरोजनी नायडू शासकीय कन्या स्नातकोत्तर (स्वशासी) महाविद्यालय में स्वामी विवेकानन्द कॅरियर अवसर मेला में कही। उन्होंने कहा कि विद्यार्थी को अवसादग्रस्त नहीं होकर आत्म-विश्वास बढ़ाने की जरूरत है। श्री पवैया ने कहा कि संस्कारों में आत्म-विश्वास लाने और अपने कौशल के प्रदर्शन से अग्रणी बना जा सकता है। श्री पवैया ने कॅरियर मेले का फीता काटकर शुभारंभ किया और मेले में लगे स्टॉल का निरीक्षण किया।

श्री पवैया ने कहा कि एक ही गुरु के शिष्य अलग-अलग विचारधारा के हो सकते हैं। विद्यार्थी अपने संस्कार से ज्ञान को आत्मसात करते हैं। उन्होंने कहा कि आज सामाजिक सारोकार की जरूरत है। विद्यार्थी अपने व्यक्तित्व को गढ़ने शिक्षण संस्थाओं में आते हैं। उन्हें अपने राष्ट्र के प्रति प्रतिबद्धता को याद रखना चाहिये। श्री पवैया ने कहा कि प्रधानमंत्री ने स्किल डेवलपमेंट को बढ़ावा देने को कहा है। इसके लिये शिक्षा के क्षेत्र में नये प्रयोग की जरूरत है। कॅरियर मेला इसमें सहायक सिद्ध होंगे। इसी उद्देश्य से नैतिक शिक्षा के और अन्य नये पाठ्यक्रम भी शुरू किये जा रहे हैं।

रोजगार बोर्ड के अध्यक्ष श्री हेमंत देशमुख ने कहा कि रोजगार और स्व-रोजगार उपलब्ध करवाने के लिये 27 विभाग को जोड़कर एक प्लेटफार्म तैयार करने का प्रयास किया जा रहा है। एक साल में हर जिले में स्व-रोजगार मेले लगाये जायेंगे। सोशल मीडिया के जरिये लोग अपने सुझाव भी दे सकते हैं। आने वाले समय में रोजगार संवाद भी होगा।

प्राचार्य डॉ. वन्दना अग्निहोत्री ने महाविद्यालय की जानकारी दी। श्रीमती अलका प्रधान ने कॅरियर मेले के बारे में बताया। इस मौके पर डॉ. आदित्य लूनावत और अतिरिक्त संचालक उच्च शिक्षा डॉ. सुधा बैसा मौजूद थी।

स्वामी विवेकानन्द कॅरियर मार्गदर्शन योजना के जरिये आज दो दिवसीय 62वाँ कॅरियर मेला का आयोजन हुआ। इस वर्ष कुल 65 मेले लगाये जा रहे हैं। इसके जरिये अभी तक 6700 से ज्यादा प्लेसमेंट हुए हैं। इस वर्ष 450 से अधिक अल्पावधि रोजगारोन्मुखी प्रशिक्षण पूरे हो चुके हैं और 50 से अधिक प्रशिक्षण चल रहे हैं। प्रशिक्षण से 30 हजार से अधिक विद्यार्थी लाभान्वित हो रहे हैं। भारत सरकार एवं आईआईटी मुंबई के सहयोग से मध्यप्रदेश के शासकीय महाविद्यालय एवं राज्य विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों को आईटी साफ्टवेयर का नि:शुल्क प्रशिक्षण शुरू किया गया है।

 
विभागीय समाचार

नवीनतम समाचार 

डॉ. कान्हेरे म.प्र. भोज (मुक्त) विश्‍वविद्यालय के कुलपति नियुक्त
उत्तरप्रदेश की विजय राष्ट्रवाद व विकास तथा मोदी जी के करिश्माई नेतृत्व की जीत
सभी संभाग मुख्यालय पर एक उत्कृष्टता संस्थान खुलेगा
युवाओं को बेहतर शिक्षा और रोजगार के अवसर देने वाला बजट
युवा आत्म-विश्वासी बने तथा सामाजिक सरोकार और स्वदेशी अपनाये
प्रदेश की शासकीय शालाओं की जी.आई.एस. मेपिंग की राष्ट्रीय स्तर पर सराहना
रोजगार केन्द्रित शिक्षा को लेकर नवाचार करने वाले निजी वि.वि. को मिलेगी अनुमति
उच्च शिक्षा मंत्री श्री जयभान सिंह पवैया का दौरा कार्यक्रम
"सिंधी भाषा, साहित्य एवं संस्कृति" पर राष्ट्रीय संगोष्ठी 26-27 फरवरी को
युवा भारत को विकासशील से विकसित देश बनाएँ
करूणा एवं संवेदना के बिना शिक्षा अधूरी
छात्र-छात्राओं में देश को विकसित राष्ट्र में बदलने की क्षमता है
मंत्री श्री जयभान सिंह पवैया नर्मदा सेवा यात्रा में शामिल होंगें
हाउसिंग बोर्ड द्वारा प्रदेश में 6834 लाख लागत के 27 होस्टल एवं कॉलेज बिल्डिंग का निर्माण
उच्च शिक्षा मंत्री श्री जयभान सिंह पवैया का दौरा कार्यक्रम
पाँच विश्वविद्यालय के उप कुलसचिव के स्थानांतरण
उच्च शिक्षा मंत्री श्री पवैया का दौरा कार्यक्रम
विश्वविद्यालयों को नये शोध कार्यों पर ध्यान केन्द्रित करने की जरूरत
कार्टूनिस्ट कार्टून से समाज में गहरी छाप छोड़ते हैं
डॉ. सोनगरा को अधिष्ठाता चिकित्सा महाविद्यालय भोपाल का प्रभार