| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | हिन्दी | English | संपर्क करें | साइट मेप
You Tube
पिछला पृष्ठ

View in EnglishDownload Kruti News Download Chanakya News

वाणिज्यिक कर विभाग की डीम्ड कर निर्धारण योजना

प्रदेश में 2.25 लाख से ज्यादा प्रकरणों में कर निर्धारण

भोपाल : गुरूवार, मार्च 23, 2017, 14:40 IST
 

वाणिज्यिक कर विभाग ने 50 करोड़ या इससे अधिक के टर्नओवर वाले व्यापारियों के लिये वर्ष 2014-15 की अवधि के शेष रहे कर निर्धारण प्रकरणों के लिये डीम्ड योजना शुरू की है। विभाग ने इस योजना में करदाताओं को कार्यालय में बुलाये बिना उनके वर्ष 2014-15 के 2 लाख 39 हजार 725 प्रकरणों का डीम्ड कर निर्धारण किया है।

विभाग ने इज ऑफ डूईंग बिजनेस में व्यापारियों को ऑनलाइन पंजीयन, ई-रिटर्न की सुविधा, विभिन्न प्रकार के फार्मस, डाउन-लोडिंग की सुविधा भी दी है। इसके साथ ही व्यापारियों को पासवर्ड रि-सेट एवं मोबाइल तथा ई-मेल आईडी अपडेट करने की सुविधा भी दी गई है। व्यापारियों को पंजीयन प्रमाण-पत्र को डाउन लोड किये जाने की सुविधा भी है।

 
विभागीय समाचार

नवीनतम समाचार 

सतना, धार, रीवा जिले में चूना पत्थर का पूर्वेक्षण कार्य
आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति अमूल्य धरोहर
रीवा जिला खनिज प्रतिष्ठान समिति के 20 करोड़ लागत के नये कार्यों का अनुमोदन
कैशलेस तथा डिजिटल इंडिया में स्मार्टफोन होंगे सहायक
उद्योग मंत्री श्री शुक्ल द्वारा भटलो में प्रधानमंत्री ग्रामीण आवासों का भूमि-पूजन
झुग्गीमुक्त होगा रीवा शहर
बसामन मामा गौ-शाला में वृहद गौ-अभयारण्य बनेगा
प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास के मकान तय समय-सीमा में पूरे हों
उद्योग मंत्री श्री राजेन्द्र शुक्ल शहडोल प्रवास पर
भेदभाव और राग-द्वेष को भुलाकर एकता के रंग में रंग जायें
प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के राष्ट्रहित में उठाये गये कदमों की ऐतिहासिक जीत
उद्योग मंत्री श्री राजेन्द्र शुक्ल सतना प्रवास पर
गोविंदपुरा औद्योगिक क्षेत्र की समस्याओं का निराकरण होगा
मध्यप्रदेश में सालाना 7.5 लाख युवाओं को दिया जायेगा कौशल उन्नयन का प्रशिक्षण
रीवा रेलवे स्टेशन का पहुँच मार्ग फोर लेन होगा
औद्योगिक संगठन मध्यप्रदेश के औद्योगिक विकास में सहभागी बने
गाँव, गरीब, किसान और कमजोर वर्गों के सपनों को साकार करने वाला बजट
जर्मनी शिक्षा के आदान-प्रदान के साथ उद्योग लगाने पर भी विचार करेगा
मुकुंदपुर व्हाइट टाइगर सफारी टूरिज्म सर्किट में शामिल
किसान उन्नतिशील होकर प्रदेश के विकास में भागीदार बनें