| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | हिन्दी | English | संपर्क करें | साइट मेप
You Tube
पिछला पृष्ठ

Download Kruti News Download Chanakya News

प्रदेश के सभी जिला चिकित्सालय में डायलिसिस की सुविधा शुरू

राज्य मंत्री श्री शरद जैन की अध्यक्षता में हुई परामर्शदात्री समिति की बैठक

भोपाल : गुरूवार, मार्च 23, 2017, 16:37 IST
 

प्रदेश के 51 जिला चिकित्सालय में डायलिसिस की सुविधा शुरू की गयी है। लगभग 52 हजार मरीजों के डायलिसिस किये गये हैं। बीपीएल मरीजों को नि:शुल्क और एपीएल मरीजों को 500 रुपये में यह सुविधा उपलब्ध करवायी जा रही है। प्रदेश के 46 जिले में डायलिसिस क्लीनिक नोवो-नारडिस्क एजुकेशन फाउण्डेशन बैंगलुरु और 4 जिले में नोर्वाटिस संस्था मुम्बई के सहयोग से नि:शुल्क प्रचार-प्रसार और परामर्श दिया जा रहा है। लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री श्री शरद जैन ने यह जानकारी विभाग की परामर्शदात्री समिति की बैठक में दी। बैठक में विधायक श्री मुकेश नायक, श्रीमती योगिता नवलसिंग बोरकर, श्रीमती अनीता सुनील नायक और श्री सुनील कुमार तिवारी मौजूद थे।

राज्य मंत्री श्री जैन ने बताया कि प्रदेश में लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा शासकीय चिकित्सालय में 48, सिविल अस्पताल में 32, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में 16 और प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में 5 प्रकार की नि:शुल्क जाँच की सुविधा उपलब्ध करवायी जा रही है। कैंसर मरीजों की कीमोथैरेपी उपचार 51 जिले के 55 चिकित्सालय में करने के लिये 105 स्टॉफ नर्सों को प्रशिक्षित किया गया है। सभी जिलों में 606 संजीवनी, 108 एम्बुलेंस वाहन संचालित हैं। इस वर्ष कुल 9 लाख 25 हजार 995 मरीजों को आपातकालीन स्थिति में परिवहन की सुविधा उपलब्ध करवायी गयी। मध्यप्रदेश राज्य बीमारी सहायता निधि से 21 चिन्हित बीमारी पीड़ित श्रेणी को 25 हजार से 2 लाख रुपये तक सहायता दी जा रही है।

बताया गया कि मुख्यमंत्री बाल ह्रदय उपचार योजना में नवजात से 18 वर्ष के बच्चों का उपचार कर लाभान्वित किया जा रहा है। वर्ष 2016-17 में जनवरी 2017 तक 2214 बच्चों का उपचार किया गया। मुख्यमंत्री बाल श्रवण योजना में जनवरी 2017 तक 415 हितग्राही को लाभान्वित किया गया। राज्य-स्तरीय मिशन इन्द्रधनुष में वर्ष 2016-17 में 17 लाख 21 हजार बच्चों एवं 5 लाख 6 हजार गर्भवती महिलाओं को लाभान्वित किया गया है। अप्रैल-मई 2016 में 44 हजार ग्राम स्तरीय महिला स्वास्थ्य शिविरों में 3 लाख गर्भवती महिलाओं सहित 17 लाख महिलाओं का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। परीक्षण के बाद 150 महिलाओं को ब्लड ट्रांसफ्यूजन एवं 15 हजार महिलाओं को आयरन सुक्रोज इंजेक्शन एवं 3 लाख गर्भवती महिलाओं को कृमिनाशक गोलियाँ दी गयीं।

बताया गया कि स्वास्थ्य सेवाओं में आई.टी. के माध्यम से अनमोल योजना में एएनएम द्वारा समुदाय में दी जा रही सेवाओं का टेबलेट के जरिये रियल टाइम संधारण एवं अनुश्रवण किया जा रहा है। चेतना एप के माध्यम से राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम की जानकारी मोबाइल पर उपलब्ध है। जीआईएस पोर्टल के माध्यम से विभाग की ग्रामीण और शहरी संस्थाएँ जीआईएस मानचित्र पर प्रदर्शित की जा रही हैं। नर्सिंग सेवाओं की गुणवत्ता में सुधार की निगरानी के लिये मोबाइल आधारित मॉनीटरिंग एप्लीकेशन तैयार किया गया है। एचआरएमआईएस मोबाइल एप्लीकेशन में स्वास्थ्य कर्मचारियों के मानव संसाधन प्रबंधन के लिये ऑनलाइन एप्लीकेशन विकसित किया गया है।

बैठक में विभाग की प्रमुख सचिव श्रीमती गौरी सिंह और आयुक्त श्रीमती पल्लवी जैन उपस्थित थीं।

 
विभागीय समाचार

नवीनतम समाचार 

चिकित्सा शिक्षा राज्य मंत्री श्री शरद जैन ने काउंसलिंग के पोर्टल का शुभारंभ
पं. खुशीलाल शर्मा आयुर्वेद महाविद्यालय बनेगा सेंटर ऑफ एक्सीलेंस
नि:शुल्क आयुष चिकित्सा शिविर 20 फरवरी को
छिंदवाड़ा में मेडिकल कॉलेज व हास्पिटल शीघ्र ही बनाया जायेगा
राज्य मंत्री श्री शरद जैन का दौरा कार्यक्रम
राज्य-स्तरीय औषधि प्रयोगशाला को एनएबीएल सर्टिफिकेट
राज्य मंत्री श्री शरद जैन का दौरा कार्यक्रम
यूनानी पद्धति में पी.जी., पीएच.डी. और फैलोशिप के लिए होंगे प्रयास
लीच थैरेपी राष्ट्रीय कार्यशाला 25-26 नवम्बर को
प्रदेश के 10 आयुर्वेद, 2-2 होम्योपैथी और प्राकृतिक चिकित्सा तथा 3 यूनानी महाविद्यालय को मिली मान्यता
निजी आयुर्वेद महाविद्यालयों में प्रवेश स्टेट कोटे से होगा
एमबीबीएस एवं बीडीएस में प्रवेश तिथि बढ़ाने का आग्रह राज्य सरकार सुप्रीम कोर्ट में करेगी
संसदीय कार्य में उत्कृष्ट शोधार्थी को एक लाख रुपये का पुरस्कार
राज्य मंत्री श्री शरद जैन ने हमीदिया अस्पताल का किया आकस्मिक निरीक्षण
राज्य मंत्री श्री शरद जैन का दौरा कार्यक्रम
विजन-2018 के काम समय-सीमा में पूरे करें
राज्य मंत्री श्री जैन की अध्यक्षता में विभागीय परामर्शदात्री समिति की बैठक
मेडिकल कॉलेज कार्य की नियमित समीक्षा होगी
पं. खुशीलाल शर्मा महाविद्यालय को आयुर्वेद सम्मान
बांडेड डाक्टर्स की पद-स्थापना होगी