| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | हिन्दी | English | संपर्क करें | साइट मेप
You Tube
पिछला पृष्ठ

View in EnglishDownload Kruti News Download Chanakya News

सुल्तानिया अस्पताल में नवजात शिशु देखभाल सेवाओं का विस्तार

सुल्तानिया में होते हैं प्रति वर्ष 18 हजार प्रसव

भोपाल : मंगलवार, अक्टूबर 17, 2017, 17:53 IST
 

सुल्तानिया जनाना चिकित्सालय में नवजात शिशु देखभाल सेवाओं के सुदृढ़ीकरण के लिए राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के सहयोग से प्रसव कक्ष के पास नवजात शिशु देखभाल इकाई स्थापित की गई है। इकाई में 4 रेडियेन्ट वार्मर एवं 2 फोटो थैरेपी मशीन हैं। जन्म के समय नवजात शिशु को सांस लेने में कठिनाई होने पर नवजात पुनर्जीवन सेवाएँ, पीलिया एवं संक्रमण का उपचार, कम वजन के शिशु के लिए आहार एवं तापीय सुरक्षा इकाई के माध्यम से दी जाएगी।

भोपाल चिकित्सा महाविद्यालय से संबद्ध सुल्तानिया जनाना चिकित्सालय में प्रति वर्ष लगभग 14 हजार सामान्य एवं 4 हजार सिजेरियन ऑपरेशन से प्रसव किये जाते हैं। नवजात शिशु की देखभाल सेवाओं के सुदृढ़ीकरण के लिए यहाँ राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के सहयोग से नवजात शिशु देखभाल इकाई स्थापित की गई है।

नवजात शिशु देखभाल इकाई का संचालन कमला नेहरू बाल चिकित्सालय भोपाल का शिशु रोग विभाग, सुल्तानिया जनाना चिकित्सालय के अधीक्षक और प्रसूति विभाग के सहयोग से सुनिश्चित करेगा। इकाई के लिए नामांकित सेवा प्रदाताओं का प्रशिक्षण राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के सहयोग से किया जाएगा।

 
विभागीय समाचार

नवीनतम समाचार 

कैंसर रोग नियंत्रण के लिए चिकित्सकों को ऑनलाइन ट्यूटोरियल
4 करोड़ से अधिक बच्चों को मिला राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम का लाभ
स्वास्थ्य मंत्री श्री रूस्तम सिंह ने श्योपुर और मुरैना में किया सघन मिशन इंद्रधनुष का शुभारंभ
नार्वे की सहायता से संचालित स्वास्थ्य कार्यक्रम में मध्यप्रदेश अग्रणी
मुख्यमंत्री श्री चौहान एवं केन्द्रीय मंत्री श्री गेहलोत करेंगे सघन मिशन इन्द्रधनुष कार्यक्रम का शुभारंभ
स्वास्थ्य मंत्री श्री सिंह श्योपुर में करेंगे सघन मिशन इन्द्रधनुष का शुभारंभ
सार्वजनिक स्थलों में बनेगी अस्थाई फीवर ओपीडी
स्वाईन फ्लू मरीज के संपर्क में आने वालों को टेमीफ्लू दें
स्वाइन फ्लू की रोकथाम के लिये 8 और अस्पताल चिन्हित
फार्मासिस्ट्स की हड़ताल से प्रभावित नहीं होंगी चिकित्सा सेवाएँ
एसिड बर्न और रेप पीड़ितों को दें नि:शुल्क आकस्मिक चिकित्सा
स्वास्थ्य मंत्री श्री रूस्तम सिंह का दौरा कार्यक्रम
मरीजों को जेनेरिक दवाओं का उपयोग करने की सलाह दें चिकित्सक
नवजात शिशु गहन चिकित्सा इकाई संचालन वाला पहला राज्य है मध्यप्रदेश
डेंगू नियंत्रण के प्रयास तेज
जे.पी. अस्पताल में नि:शुल्क क्लब फुट सर्जरी शिविर आज
रीवा जिले के ग्राम बरौ में आयुष ग्राम योजना शुरू
भोपाल में परिवार नियोजन साधन "अंतरा" एवं "छाया" का वितरण शुरू
लगातार लार्वा मिलने पर होगा 500 रुपये का जुर्माना
प्रदेश में एचआईवी प्रतिशत में आई उल्लेखनीय गिरावट