| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | हिन्दी | English | संपर्क करें | साइट मेप
You Tube
पिछला पृष्ठ

Download Kruti News Download Chanakya News

मछली पालन तालाब बनाने वाले सभी वर्गों को 50 प्रतिशत अनुदान

मत्स्य-पालन मंत्री श्री आर्य की अध्यक्षता में विभागीय परामर्शदात्री समिति की बैठक

भोपाल : शुक्रवार, मार्च 24, 2017, 18:22 IST
 

मछली पालन के लिए अपनी भूमि पर नवीन तालाब निर्माण करने वाले सभी वर्गों के लोगों को अब निर्माण ईकाई लागत 7 लाख रूपये प्रति हेक्टेयर पर 50 प्रतिशत (3.50 लाख रू.) अनुदान मिलेगा। अनुदान अधिकतम 2 हेक्टेयर तालाब तक देय होगा। अब तक निजी भूमि में नवीन तालाब निर्माण ईकाई लागत 3 लाख रू प्रति हेक्टेयर थी। जिस पर सामान्य वर्ग को 20 प्रतिशत अधिकतम 60 हजार रू, अनुसूचित जाति-जन जाति को 25 प्रतिशत अधिकतम 75 हजार रू अनुदान की पात्रता थी। यह अनुदान अधिकतम 5 हेक्टेयर के तालाब निर्माण पर देय था। यह जानकारी मछुआ कल्याण तथा मत्स्य-विकास मंत्री श्री अंतर सिंह की अध्यक्षता में हुई परामर्शदात्री समिति की बैठक में दी गयी। विधायक सर्वश्री मोती कश्यप, श्री जयसिंह मरावी, डॉ. कैलाश जाटव, श्री यादवेन्द्र सिंह, प्रमुख सचिव श्री विनोद कुमार, संचालक श्री ओ. पी. सक्सेना और मत्स्य महासंघ के प्रबंध संचालक श्री सतीश सिलावट भी मौजूद थे।

श्री मोती कश्यप ने कहा कि तालाब ऐसी जगह बनें, जहाँ वर्षा जल का पूर्ण भराव हो। श्री कश्यप ने कहा कि कमलगट्टा और सिंघाड़ा उत्पादन के लिए बोर्ड बने। मंत्री श्री आर्य ने निजी तालाबों का मत्स्य उत्पादन डाटा संग्रहण करने को कहा। बैठक में बताया गया कि मत्स्य महासंघ के 22 जलाशय में वर्ष 2015-16 में 10 हजार 735 मीट्रिक टन मत्स्य-उत्पादन हुआ। प्रदेश की उत्पादकता राष्ट्रीय उत्पादकता 12.5 किलोग्राम प्रति हेक्‍टेयर के मुकाबले 54 किलोग्राम प्रति हेक्टेयर रही। इसमें भी गाँधी सागर की मत्स्य-उत्पादकता 119 किलोग्राम प्रति हेक्टेयर रही। बताया गया कि अब तक 13 निषादराज मंगल भवन और 2284 मछुआ आवासों का निर्माण पूर्ण हो गया है।

 
विभागीय समाचार

नवीनतम समाचार 

महासंघ कर्मियों को शासन के अनुरूप 7 प्रतिशत महँगाई भत्ते की मत्स्य-पालन मंत्री ने दी स्वीकृति
श्री राजू बाथम मध्यप्रदेश मछुआ कल्याण बोर्ड के उपाध्यक्ष नियुक्त
मछुआ कल्याण बोर्ड का पुनर्गठन
सिल्क फेडरेशन न्यू मार्केट में खोलेगा शो-रूम
प्रत्येक जिले में दो कलाकार को दें माटी कला का प्रशिक्षण
कृषक की आय दोगुनी करने में मत्स्य विभाग की भी रहेगी अहम् भूमिका
ऑनलाइन आर्डर पर घर पहुँचेगी मछली
सहकारी सप्ताह में विपणन संघ में हुई संगोष्ठी
मत्स्योद्योग विभाग ने नहीं दिया है रिक्त पद पूर्ति का विज्ञापन
राष्ट्रीय औसत की तुलना में 332 प्रतिशत अधिक है मत्स्य महासंघ का मछली-पालन
पशुपालन मंत्री श्री अंतरसिंह आर्य का दौरा कार्यक्रम
थाई मांगुर मछली जप्त
उद्यानिकी योजनाओं का लाभ लेने हेतु आवेदन ऑनलाइन होंगे
श्री ओ.पी. सक्सेना को संचालक मत्स्योद्योग का अतिरिक्त प्रभार
बड़वानी जिले में होगी हेचरी शुरू
पशुपालन मंत्री श्री आर्य ने किया कुक्कुट-पालन प्रक्षेत्र भोपाल का आकस्मिक निरीक्षण
मत्स्य-पालन से अछूते तालाबों में डालें मत्स्य बीज
मछुआरों के लिये दो ट्रेनिंग स्कूल खुलेंगे
16 जून से 15 अगस्त तक मत्स्याखेट प्रतिबंधित
विलुप्तप्राय मछलियों का संरक्षण होगा