| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | हिन्दी | English | संपर्क करें | साइट मेप
You Tube
पिछला पृष्ठ

Download Kruti News Download Chanakya News

निजी विद्यालयों में बायोमेट्रिक मशीन से फीस प्रतिपूर्ति कराने वाला मध्यप्रदेश प्रथम राज्य

भोपाल : शनिवार, दिसम्बर 9, 2017, 18:39 IST
 

मध्यप्रदेश में निःशुल्क और अनिवार्य बाल शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अंतर्गत निजी विद्यालयों में पढ़ने वाले वाले बच्चों की फीस प्रतिपूर्ति अब आधार नंबर से लिंक करते हुए बायोमेट्रिक सत्यापन से होगी। स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा कलेक्टरों को इस सम्बंध में निर्देश जारी कर दिये गए है। इस तरह की पारदर्शी व्यवस्था करने वाला देश का मध्यप्रदेश पहला राज्य बन गया है।

निःशुल्क और अनिवार्य बाल शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अर्न्तगत निजी विद्यालयों की प्रथम प्रवेशित कक्षा में न्यूनतम 25 प्रतिशत सीटों पर वंचित समूह एवं कमजोर वर्ग के बच्चों को निःशुल्क प्रवेश दिया जाता है, जिसकी फीस प्रतिपूर्ति राज्य शासन द्वारा की जाती है। फीस प्रतिपूर्ति की प्रक्रिया को पूर्ण पारदर्शी करने के उद्देश्य से सभी बच्चों के आधार नंबर प्रक्रिया से लिंक करते हुए बायोमेट्रिक मशीन द्वारा सत्यापन प्रारंभ किया गया है। यह सत्यापन बच्चों की अँगुली अथवा अँगूठे के निशान से होगा। आधार सत्यापित होने पर ही सत्यापित बच्चों की फीस प्रतिपूर्ति का क्लेम संबंधित स्कूल द्वारा प्राप्त किया जा सकेगा।

राज्य शिक्षा केन्द्र द्वारा इस प्रक्रिया के संचालन के लिए पोर्टल प्रारंभ कर दिया गया है। अब जितने बच्चों का आधार सत्यापन हो जायेगा उतने बच्चों का फीस प्रतिपूर्ति का क्लेम स्कूल द्वारा डिजीटल हस्ताक्षर से लॉक कर ऑनलाइन भेजा जा सकेगा। यह व्यवस्था लागू होने से अब किसी भी प्रायवेट स्कूल को नोडल अधिकारी अथवा किसी अन्य कार्यालय में जाकर फीस का क्लेम जमा करने की आवश्यकता नहीं है। स्कूल द्वारा डिजीटली लॉक किया गया क्लेम नोडल अधिकारी, बीआरसी तथा जिला परियोजना समन्वयक को पोर्टल पर ऑनलाइन ही सत्यापन के लिये प्रदर्शित होगा। सत्यापन उपरांत प्रर्तिपूर्ति राशि ऑनलाइन ही स्कूल के खाते मे सीधे जमा होगी।

उल्लेखनीय है कि आधार सत्यापन के माध्यम से ऑनलाइन फीस प्रतिपूर्ति की सर्वप्रथम व्यवस्था के पहले शिक्षा का अधिकार के तहत, सर्वप्रथम राज्य के नियम बनाने वाला तथा निजी विद्यालयों में निःशुल्क प्रवेश के लिए ऑनलाइन प्रक्रिया अपनाने वाला प्रथम राज्य भी मध्यप्रदेश ही है। मध्यप्रदेश द्वारा प्रारंभ की गई इन व्यवस्थाओं की भारत सरकार तथा अन्य राज्यों द्वारा भी सराहना की गई है।

 
विभागीय समाचार

नवीनतम समाचार 

प्राइवेट स्कूल फीस वृद्धि पर नियंत्रण का अभिभावक ने किया स्वागत
एक लाख से अधिक शालाओं में वार्षिकोत्सव के साथ प्रतिभा पर्व सम्पन्न
हिन्दी ओलम्पियाड की प्रथम चरण की परीक्षा अब 17 दिसम्बर को
प्रदेश में शाला मित्र करेंगे संकल्प से शाला सिद्धि
एडीलेड में 3 दिसंबर से पेसेफिक स्कूल गेम्स चैम्पियनशिप
उच्च ‍शिक्षा मंत्री श्री पवैया का दौरा कार्यक्रम
मुख्यमंत्री के निर्देश पर हुआ तबादला निरस्त
बच्चों और शिक्षकों के बीच सेतु हैं कहानियाँ - स्कूल शिक्षा राज्य मंत्री श्री जोशी
जल्दी होगी संस्कृत शिक्षकों की भर्ती : स्कूल शिक्षा राज्य मंत्री श्री जोशी
राज्य स्तरीय कहानी उत्सव का शुभारंभ करेंगे राज्य मंत्री श्री दीपक जोशी
इसी वर्ष से ज्योतिष, वास्तु और पुरोहित विधा का डिप्लोमा पाठ्यक्रम
भोपाल में दो दिवसीय राष्ट्रीय ज्योतिष कार्यशाला
स्कूल के बच्चे अब यस सर की जगह जय-हिन्द सर बोलेंगे
भोपाल में 28-29 नवम्बर को राष्ट्रीय ज्योतिष कार्यशाला
शौर्य स्मारक में 69वां एनसीसी स्थापना दिवस समारोह आज
भोपाल में 29-30 नवम्बर को राज्य स्तरीय कहानी उत्सव
वैदिक विद्या पीठम चिचोटकुटी को अधोसंरचना विकास के लिए 50 लाख रु.
ओपन स्कूल (परम्परागत) परीक्षा के प्रवेश-पत्र जारी
पूर्व राष्ट्रपति डॉ. जाकिर हुसैन की स्मृति में पिपरिया में 12 नवंबर को विभिन्न कार्यक्रम
मुख्यमंत्री श्री चौहान करेंगे राष्ट्रीय विज्ञान-गणित तथा पर्यावरण प्रदर्शनी का उद्घाटन