दिनांक
विभाग
भोपाल : बुधवार, फरवरी 7, 2018, 12:11 IST

प्रदेश में 2 हजार से अधिक कस्टम हॉयरिंग केन्द्रों की स्थापना

अधिक से अधिक किसानों को मिल रहा है आधुनिक कृषि यंत्रों के उपयोग का मौका

 

प्रदेश में कृषि उत्पादन बढ़ाने के लिये किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग ने निजी क्षेत्र में कस्टम हॉयरिंग केन्द्र की योजना प्रारंभ की है। योजना से किसानों को खेतों में किराये की राशि से महँगे कृषि यंत्र उपयोग करने का मौका मिल रहा है। मध्यप्रदेश कस्टम हॉयरिंग केन्द्रों की स्थापना में देश में पहले स्थान पर है। अब तक प्रदेश में 2 हजार 25 से अधिक कस्टम हॉयरिंग केन्द्र शुरू किये जा चुके हैं।

कृषि के वर्तमान परिदृश्य में कृषि यंत्रीकरण का महत्व बढ़ा है। इसके उपयोग से श्रम, समय एवं लागत में कमी आती है तथा कृषि उत्पादन में वृद्धि होती है। ग्रामीण अंचलों में खेतिहर मजदूर की संख्या कम होने से किसानों की दिक्कतों को देखते हुए कस्टम हॉयरिंग केन्द्र की योजना शुरू की गई है। योजना का लाभ यह हुआ है कि अब लघु एवं सीमांत किसान भी कृषि यंत्रों का उपयोग कर रहे हैं।

कस्टम हॉयरिंग केन्द्र की योजना में ग्रामीण शिक्षित युवाओं को कृषि के आधुनिक यंत्रों को रखने के लिये बैंक से ऋण दिलवाया जा रहा है। इसके साथ ही राज्य सरकार द्वारा केन्द्र की लागत का 40 प्रतिशत और अधिकतम 10 लाख रुपये तक की सहायता अनुदान के रूप में उपलब्ध करवाई जा रही है।

प्रत्येक कस्टम हॉयरिंग केन्द्र में वर्षभर में 80 से 125 किसानों को मदद दी जा रही है। योजना से ग्रामीण क्षेत्रों में युवाओं के पलायन की प्रवृत्ति पर भी रोक लगी है।

मुकेश मोदी

प्रदेश में मुख्यमंत्री स्वेच्छानुदान की राशि कई गुना बढ़ाई गई
कृषि विभाग को मिलेगा प्रशिक्षित कृषि अमला
जैविक खाद से कृषि लागत हुई लगभग शून्य
रबी सीजन में 102 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में बोनी का काम पूरा
फसलों के बाजार भाव के उतार-चढ़ाव से किसानों को मिली सुरक्षा
भावातंर योजना पोर्टल पर दर्ज विवरण की ऋटियों को दुरुस्त करने कलेक्टर समिति अधिकृत
कटनी जिले में राजस्व शिविरों में हुआ 62 हजार प्रकरणों का निराकरण
अब मिल रहा है फसलों का लाभकारी मूल्य
छिंदवाड़ा में गन्ना की खरीदी कीमत 300 रूपये प्रति क्विंटल निर्धारित
भावांतर भुगतान योजना में मक्का के मिल रहे अच्छे भाव
जैविक खेती से किसान चित्तरंजन को मिली अलग पहचान
मध्यप्रदेश में किसानों की आय दोगुनी करने के लिए किये जा रहे ठोस प्रयास
भोपाल में 9-10 दिसम्बर को राष्ट्रीय कृषि व्यापार सम्मेलन
कृषि उपज मंडियों में किसानों को उपज की मिल रही सही कीमत
किसानों से समर्थन मूल्य पर खरीदी 2.81 लाख क्विंटल धान
कृषि आधारित आजीविका मिशन से 13,57,183 हितग्राही लाभान्वित
अयूब खां ने प्लास्टिक मल्चिंग विधि अपनाकर खेती को बनाया लाभ का धंधा
भावांतर भुगतान योजना की भ्रांतियों को दूर करने राज्य स्तर पर कंट्रोल रूम स्थापित
किसान कल्याण मंत्री श्री बिसेन कृषक संगोष्ठी में होंगे शामिल
भावान्तर भुगतान योजना में लापरवाही