| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | हिन्दी | English | संपर्क करें | साइट मेप
You Tube
पिछला पृष्ठ

View in EnglishDownload Kruti News Download Chanakya News

मध्यप्रदेश में किसानों की आय दोगुनी करने के लिए किये जा रहे ठोस प्रयास

राष्ट्रीय कृषि व्यापार सम्मेलन में किसान कल्याण मंत्री श्री बिसेन

भोपाल : शनिवार, दिसम्बर 9, 2017, 18:54 IST
 

किसान कल्याण एवं कृषि विकास मंत्री श्री गौरीशंकर बिसेन ने कहा है कि प्रधानमंत्री के संकल्प वर्ष 2022 के अंतर्गत मध्यप्रदेश में किसानों की आय दोगुनी करने के लिये ठोस प्रयास किये जा रहे हैं। इसी सिलसिले में राज्य सरकार ने किसानों के हित में अनेक महत्वपूर्ण फैसले लिये हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में शुरू की गई भावांतर भुगतान योजना में किसानों को उनकी उपज का सही दाम दिलवाया गया है। किसान कल्याण मंत्री श्री बिसेन आज भोपाल में राष्ट्रीय कृषि व्यापार सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। कृषि व्यापार सम्मेलन का आयोजन एशियन फार्मर्स प्रोड्यूसर कम्पनी लिमिटेड और किसान कल्याण विभाग, उद्यानिकी, नाबार्ड, आईएसईडी और आईटीएससी ने मिलकर किया है।

किसान कल्याण मंत्री श्री बिसेन ने कहा कि राज्य सरकार ने किसानों के लिये शुरू की गई भावांतर भुगतान योजना में 4 हजार करोड़ रुपये का प्रावधान किया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कृषि उत्पादन में क्वांटिटी से ज्यादा क्वालिटी पर ध्यान दिये जाने की जरूरत है। कृषि मंत्री ने कहा कि गेहूँ के उत्पादन में मध्यप्रदेश ने पंजाब और हरियाणा प्रदेश को पीछे छोड़ दिया है। श्री बिसेन ने कहा कि राज्य सरकार ने खाद्य प्र-संस्करण उद्योगों को बढ़ावा देने के लिये 10 लाख से 2 करोड़ रुपये तक अनुदान देने का निर्णय लिया है। कृषि मंत्री ने रासायनिक उर्वरकों के कृषि भूमि के साथ-साथ मानव जीवन पर पड़ने वाले दुष्प्रभाव की चर्चा करते हुए कहा कि किसानों को अब जैविक खेती की ओर बढ़ना चाहिए। राज्य सरकार जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिये किसानों को हरसंभव मदद देगी। कृषि मंत्री ने कहा कि किसान खेती में आधुनिक तकनीक का अधिक से अधिक इस्तेमाल कर सकें, इसके लिये निजी कम्पनियों के साथ मिलकर युवाओं को ट्रेक्टर सुधार का प्रशिक्षण भी दिलवाया गया है।

सहकारिता राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री विश्वास सारंग ने कहा कि गाँव से पलायन को रोकने के लिये कृषि अर्थ-व्यवस्था को और अधिक मजबूत बनाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि सहकारिता के माध्यम से समाज के अंतिम छोर के व्यक्ति तक मदद पहुँचाने के लिये प्रयास किये जा रहे हैं। किसानों को जीरो प्रतिशत पर कृषि ऋण उपलब्ध करवाया जा रहा है। अब प्रदेश में किसानों को कृषि ऋण की केवल 90 प्रतिशत राशि ही वापस करनी होती है। उन्होंने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की खासियत के बारे में भी बताया।

कार्यक्रम में एशियन फार्मर्स प्रोड्यूसर कम्पनी लिमिटेड के अध्यक्ष श्री द्वारका सिंह ने बताया कि राष्ट्रीय सम्मेलन में देशभर के कृषि वैज्ञानिक, प्रगतिशील किसान भाग ले रहे हैं। सम्मेलन में बेगमगंज की प्रगतिशील महिला किसान श्रीमती राधाबाई दुबे को भी सम्मानित किया गया। इन्हें जैविक खेती के क्षेत्र में श्रेष्ठ कार्य करने के लिये पूर्व राष्ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी ने सम्मानित किया था।

 
विभागीय समाचार

नवीनतम समाचार 

भोपाल में 9-10 दिसम्बर को राष्ट्रीय कृषि व्यापार सम्मेलन
कृषि उपज मंडियों में किसानों को उपज की मिल रही सही कीमत
किसानों से समर्थन मूल्य पर खरीदी 2.81 लाख क्विंटल धान
कृषि आधारित आजीविका मिशन से 13,57,183 हितग्राही लाभान्वित
अयूब खां ने प्लास्टिक मल्चिंग विधि अपनाकर खेती को बनाया लाभ का धंधा
भावांतर भुगतान योजना की भ्रांतियों को दूर करने राज्य स्तर पर कंट्रोल रूम स्थापित
किसान कल्याण मंत्री श्री बिसेन कृषक संगोष्ठी में होंगे शामिल
भावान्तर भुगतान योजना में लापरवाही
एक भी अविवादित नामांतरण, बँटवारा का आवेदन लंबित नहीं
श्री एस.एस. उप्पल मध्यप्रदेश राज्य कृषि विपणन बोर्ड के उपाध्यक्ष मनोनीत
भावांतर भुगतान योजना किसानों के हित में ऐतिहासिक पहल
ग्राम मौहरी के किसान रामकृष्ण बने जैविक दूत
राज्य सरकार किसानों की आय दोगनी करने के लिये प्रतिबद्ध
ग्राम कवछा की पहचान-भिकली दीदी की आजीविका फ्रेश दुकान
मध्यप्रदेश के कृषि क्षेत्र में आगामी 10-12 साल भी आगे रहने की उम्मीद
कृषि मंत्री श्री बिसेन ने बाकोड़ा में शौचालय निर्माण के लिए किया श्रमदान
ऐरा प्रथा से फसल हानि के प्रति लोगों को जागरूक करें
ग्वालियर की जनता को मिलेगा पर्याप्त पानी
संकल्प से सिद्धि कार्यक्रम में किसान की आय दोगुना करने की योजना शामिल
रतलाम एवं शाजापुर जिले में कृषि यांत्रिकी कार्यालय खुलेंगे