social media accounts
दिनांक
विभाग
भोपाल : शुक्रवार, मार्च 16, 2018, 20:08 IST

पंचायतों के हेडपम्प का खनन भी पीएचई करें

मंत्री सुश्री कुसुम महदेले की अध्यक्षता में हुई परामर्शदात्री समिति की बैठक

 

लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग की परामर्शरात्री समिति ने पंचायतों द्वारा किये जाने वाले हैण्डपम्पों के खनन का कार्य भी लोक स्वास्थ यांत्रिकी विभाग द्वारा ही करवाये जाने का सुझाव दिया है। विभागीय मंत्री सुश्री कुसुम महदेले ने भी इस पर अपनी सहमति दी है। विभागीय परामर्शदात्री समिति की बैठक आज विधानसभा भवन में स्थित समिति कक्ष में हुई। बैठक में मंत्री सुश्री महदेले के साथ राज्य मंत्री श्री जालम सिंह पटेल, सदस्य विधायक पं. रमेश दुबे एवं श्रीमती नीलम अभय मिश्रा भी उपस्थित थे।

सुश्री महदेले ने कहा कि यदि पीएचई विभाग हेडपम्प के लिए प्रशासकीय एवं तकनीकी स्वीकृति जारी करना है तो उसका भौतिक सत्यापन अवश्य किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि जो अधिकारी-कर्मचारी वर्षो से एक स्थान पर पदस्थ है, उनका स्थानांतरण जिले अथवा संभाग के बाहर किया जाये। प्रदेश की ग्रामीण बसाहटों में क्रियान्वित की जा रही हेडपम्प, नलजल एवं समूह जल प्रदाय योजनाओं की नियमित मानीटरिंग होनी चाहिए। ग्रीष्म ऋतु के दौरान ग्रामीण क्षेत्र में पीने के पानी की कमी नही होनी चाहिए। सुश्री महदेले ने बताया कि अगले वित्तीय वर्ष में लगभग 1250 नलजल योजनाओं का क्रियान्वयन होगा। बैठक में सदस्य श्रीमती नीलम अभय मिश्रा ने सुझाव दिया कि हेडपम्प खनन के शीघ्र बाद राईजर पाइप और मोटर श्री शीघ्र लगाई जाना चाहिए। सदस्य पं. रमेश दुबे ने ग्रामीण बसाहटों में गर्मी के दौरान पेयजल आपूर्ति के संबंध में विशेष ध्यान देने को कहा।

प्रमुख सचिव श्री प्रमोद अग्रवाल ने विभागीय गतिविधियाँ की जानकारी देते हुए बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में शुद्ध पेयजल उपलब्ध करवाने के उद्देश्य से मुख्यमंत्री ग्राम नलजल योजना का निरंतर क्रियान्वयन हो रहा है। इस कार्यक्रम के लिए अगले वित्तीय वर्ष 649 करोड़ की राशि रखी गई है। मुख्यमंत्री ग्राम नलजल योजनाओं में 2368 चिन्हित ग्रामों में से 1037 योजनाओं की प्रशासकीय स्वीकृति जारी हो चुकी है, जिनकी लागत 1002 करोड़ रुपये है। बैठक में प्रमुख अभियंता श्री के.के. सोनगरिया भी उपस्थित थे।

प्रलय श्रीवास्तव

"जल-चौपाल की बदौलत 152 परिवारों को मिल रहा है स्वच्छ पेयजल
पीने के पानी की कमी से मुक्त हुआ धनुपुरा
पीएचई ने कार्यों में पारदर्शिता और गति लाने के लिये अपनाया तकनीकी नवाचार
जनसंपर्क मंत्री डॉ. मिश्र ने जाना रोगी का हालचाल
नदियों के संरक्षण की अभिनव पहल है वृक्षारोपण महाअभियान - सुश्री कुसुम महदेले
सुश्री कुसुम महदेले और पारस जैन द्वारा श्री अग्रवाल को श्रद्धांजलि
बंद नल-जल योजनाओं को चालू करने की हो रही मॉनीटरिंग
पीएचई मंत्री सुश्री कुसुम महदेले ने बजट को लोक कल्याणकारी और जनहितैषी बताया
नेचुरोपैथी, योग और आयुर्वेद जीवन में महत्वपूर्ण : श्री रुस्तम सिंह
एक लाख से अधिक ग्रामीण बसाहट में मिल रहा 55 लीटर प्रति व्यक्ति पेयजल
पेयजल की गुणवत्ता का स्तर बेहतर रखें
मध्यप्रदेश का नया घोषित मेडिकल कॉलेज टीकमगढ़ में ही बनेगा
कायाकल्प अभियान में टीकमगढ़ और भिंड के जिला अस्पताल प्रदेश में प्रथम
श्री पटवा ने मध्यप्रदेश में महिला सशक्तिकरण को नये आयाम दिये-सुश्री कुसुम महदेले
बंद नल-जल योजनाएँ ग्राम पंचायतों के माध्यम से शुरू की जाए
गंभीर बीमारी चिन्हित करने लगेंगे 8 दिसम्बर से 27 जनवरी तक शिविर
विश्व मधुमेह दिवस-14 नवम्बर
मंत्री सुश्री कुसुम महदेले द्वारा श्रीमती जयंती बेन मेहता के निधन पर शोक व्यक्त
मंत्रीगण ने दतिया में पार्थिव शिवलिंग निर्माण अनुष्ठान में हिस्सा लिया
रचनात्मक कार्यों को बढ़ावा देकर जेल बंदियों के जीवन में लाया जायेगा सुधार