| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | हिन्दी | English | संपर्क करें | साइट मेप
You Tube
पिछला पृष्ठ

View in EnglishDownload Kruti News Download Chanakya News
भोपाल हैरिटेज वॉक

समृद्ध ऐतिहासिक धरोहर से रू-ब-रू हुए प्रतिभागी

भोपाल : मंगलवार, अप्रैल 18, 2017, 14:55 IST
 

सदर मंजिल में सोने से बनी पेंटिंग, शौकत महल में पत्थर पर बनी अंगूर की बेल, गौहर महल में साइफन से चलता फव्वारा देख भोपाल हैरिटेज वॉक में शामिल लोग अभिभूत हुए। हमारे भोपाल में इतना सब है यह सब तो हमें पता ही नहीं था ऐसी प्रतिक्रियाएँ, पुरातत्व एवं संग्रहालय मध्यप्रदेश द्वारा विश्व धरोहर दिवस पर भोपाल हैरिटेज वॉक में शामिल हुए प्रतिभागियों से सहज रूप से आ रही थी। वॉक में पूर्व मुख्य सचिव तथा अध्यक्ष मध्यप्रदेश भू-संपदा विनियामक प्राधिकरण श्री अन्टोनी डि सा और आयुक्त पुरातत्व श्री अनुपम राजन भी सम्मिलित हुए।

वॉक के प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए श्री अनुपम राजन ने कहा कि नई पीढ़ी को हमारी समृद्ध विरासत और अतीत से अवगत कराना हैरिटेज वॉक का प्रमुख उद्देश्य है। उन्होंने कहा कि इस प्रकार की गतिविधियों से धरोहर के प्रति लोगों में संवेदनशीलता विकसित होती है और इनके संधारण व संरक्षण में परस्पर भागीदारी को प्रोत्साहित किया जा सकता है। श्री राजन ने बताया कि भोपाल के आसपास तथा प्रदेश के अन्य स्थानों पर विद्यमान ऐतिहासिक महत्व के स्थानों पर व्यवस्थित रूप से हैरिटेज वॉक नियमित रूप से संचालित किए जायेंगे।

पुरातत्वविद् श्रीमती पूजा सक्सेना के संचालन में यह वॉक रानी कमलापति के महल से आरंभ होकर फैज बहादुर साहब की दरगाह, चमेली वाली दरगाह, हमाम, शीतलदास की बगिया, गौहर महल, इकबाल मैदान, शौकत महल होते हुए सदर मंजिल पहुंची। वॉक में सभी आयु वर्ग के लोगों के साथ-साथ आइडियल सोसायटी ऑफ इंटीरियर डिजायनर के सदस्यों तथा आर्किटेक्चर और अर्बन प्लानिंग का अध्ययन कर रहे छात्र-छात्राओं ने भी बड़ी संख्या में भाग लिया।

वॉक के दौरान राजा भोज द्वारा कोलांस नदी पर बनाए बाँध के आस-पास विकसित हुई बसाहट से लेकर नगर के आगामी ऐतिहासिक विकास क्रम के संबंध में जानकारी दी गई। पुरातत्वविद ने बेगम कुदसिया के स्मरण-पत्रों में आते रानी शॉलमल्ली द्वारा निर्मित विश्वविद्यालय के उल्लेख, कमलापति महल की विभिन्न विशेषताओं जैसे पानी की निकासी, पनचक्की आदि के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि बड़े तालाब के किनारे बना हमाम स्थापत्य और अभियांत्रिकी के संगम का बेजोड़ उदाहरण है। वॉक में तालाब से पानी उठाने के लिए बना रहट घाट कैसे रेत घाट हो गया और मांजी ममोला साहब की मस्जिद, लैला बुर्ज के संबंध में भी जानकारी दी गई।

भोपाल की पहली महिला नवाब कुदसिया बेगम द्वारा निर्मित गौहर महल में मिनरल कलर से बनी पेंटिंग और यहॉ बड़े तालाब से आती हवा का आनंद लेने के लिए बनाए गए विशेष डिजायन, सिकंदर जहाँ बेगम द्वारा भवन निर्माण में आरंभ मार्बल के उपयोग, लाल पत्थर और मार्बल से बनी मोती मस्जिद, खुले दरबार के रुप में उपयोग में लाए जाने वाले इकबाल मैदान के संबंध में भी वॉक में चर्चा हुई। शौकत महल में हुए रंगीन काँच के काम तथा इंडो-फ्रेंच स्थापत्य से प्रभावित यहाँ के डिजाइन के संबंध में भी जानकारी दी गई।

हैरिटेज वॉक में बताया गया कि प्लास्टर के लिए चूना, उड़द की दाल, सन की रस्सी, बेल आदि से सामग्री बनायी जाती थी। इसके साथ ही सदर मंजिल में हुए प्लास्टर में शंख, सीप तथा नारियल तेल का उपयोग भी किया गया। हैरिटेज वॉक के दौरान जन-सामान्य ने सदर मंजिल तथा गौहर महल में लाइट एंड साउंड शो आरंभ करने तथा इस प्रकार की वॉक प्रति माह एक सप्ताहांत पर करने की मांग की।

 
विभागीय समाचार

नवीनतम समाचार 

"धरोहर की बात धरोहर के साथ" की थीम पर होगा बुरहानपुर सिंहावलोकन
एप्को की पीजीडीईएम परीक्षा 24 अप्रैल से
पूर्व में प्रचलित पर्यटन नीति में अनुदान या छूट प्राप्त करने की अंतिम तिथि 30 मार्च
मध्यप्रदेश टूरिज्म अवार्ड के ऑनलाइन आवेदन 15 मार्च से 15 अप्रैल तक
पर्यटन दौड़ ‘गो हेरिटेज रन’ खजुराहो में संपन्न
गो हेरिटेज रन 26 फरवरी को
राज्य की पर्यटन नीति के तहत शासकीय भूमि से अदला-बदली
पर्यटन विकास निगम को एफी अवार्ड मिलने पर राज्य मंत्री श्री पटवा ने दी बधाई
"एम.पी. में दिल हुआ बच्चे सा"
रामायण एवं ईको सर्किट विकास के प्रस्ताव केन्द्र को भेजे
होम स्टे योजना में एम.ओ.यू. पर हस्ताक्षर
खजुराहो नृत्‍य महोत्‍सव के दौरान लाइट एण्‍ड साउण्‍ड शो रहेगा स्‍थगित
होम स्टे योजना में महत्वपूर्ण एम.ओ.यू. पर हस्ताक्षर
पर्यटन भवन में श्री भौमिक द्वारा ध्वजारोहण
हनुवंतिया जल-महोत्सव वास्तविक रूप से आनंद उत्सव है
एक माह तक चले द्वितीय जल-महोत्सव का समापन 15 जनवरी को
भोपाल में 48 घंटे में कहाँ घूमें, क्‍या देखें
‘‘हनुवंतिया जल-महोत्सव’’ छाया सोशल मीडिया पर
हेण्डलूम ब्रांडिंग के लिये हुई कार्यशाला
पर्यटन राज्य मंत्री की अध्यक्षता में हुई परामर्शदात्री समिति की बैठक