| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | हिन्दी | English | संपर्क करें | साइट मेप
You Tube
पिछला पृष्ठ

View in EnglishDownload Kruti News Download Chanakya News

भारत और दक्षिण पूर्व एशियाई देशों के संबंध विश्व राजनीति का निर्धारण करेंगे-राज्यपाल श्री कोहली

विदेश मंत्री श्रीमती सुषमा स्वराज की उपस्थिति में जारी हुआ भोपाल यूथ डिक्लेरेशन
इंडिया आसियान यूथ समिट सम्पन्न

भोपाल : शुक्रवार, अगस्त 18, 2017, 18:16 IST
 

भारत आसियान यूथ समिट का समापन समारोह आज राज्यपाल श्री ओ.पी. कोहली की अध्यक्षता और विदेश मंत्री श्रीमती सुषमा स्वराज के मुख्य आतिथ्य में सम्पन्न हुआ। कार्यक्रम में संयुक्त राष्ट्र की यूथ एन्वाय सुश्री जयथमा विक्रमानायके विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित थी। होटल जहाँनुमा में आयोजित इस कार्यक्रम में ब्रुनेई, कम्बोडिया, लाओस, मलेशिया, म्यांमार, फिलिपिन्स, सिंगापुर, थाईलैण्ड, वियतनाम और मेजवान देश भारत के प्रतिनिधि सम्मिलित हुए। इस अवसर पर भोपाल यूथ डिक्लेरेशन भी जारी किया गया।

इंडिया आसियान यूथ समिट के समापन अवसर पर राज्यपाल श्री ओमप्रकाश कोहली ने कहा कि मध्यप्रदेश का दक्षिण पूर्व के देशों के साथ बहुत प्राचीन संबंध रहा है। साँची विभिन्न देशों के बीच शांति और सदभाव का प्रतीक है। भारत और दक्षिण पूर्व एशिया के देशों के बीच 2000 साल से भी पुराने सांस्कृतिक, व्यापारिक, आध्यात्मिक और वैचारिक संबंध हैं। यह संबंध युद्ध या हार-जीत के कारण विकसित नहीं हुआ बल्कि इसका आधार परस्पर प्रेम और अन्य मानवीय आवश्यकताएँ रही। आज मलेशिया, सिंगापुर आदि देशों में भारतीय मूल के लोग बड़ी तादाद में है। भारत और दक्षिण पूर्व देशों के बीच सिर्फ साझा सांस्कृतिक और सभ्यता की विरासत ही नहीं है बल्कि इसका संबंध देशों की सुरक्षा, क्षेत्र में शांति, स्थायित्व और समृद्धि से भी है।

श्री कोहली ने कहा कि भारत आज दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था वाला देश बनकर उभरा है। आसियान देशों के लिये भारत के साथ मिलकर अपने आर्थिक स्थिति में सुधार के अभूतपूर्व अवसर उपलब्ध हैं। किसी भी देश के विकास में युवाओं की भूमिका सबसे अधिक महत्वपूर्ण होती है। भारत आज दुनिया भर में युवा-शक्ति के बल पर अपनी श्रेष्ठता का परचम लहरा रहा है। राज्यपाल ने कहा कि अब यह जरूरी हो गया है कि भारत और आसियान देशों के युवाओं के बीच परस्पर सम्पर्क होते रहे। उन्होंने कहा कि मुझे उम्मीद है कि हमारे 2000 साल पुराने संबंध नई ऊँचाइयों को प्राप्त करेंगे और हम लोग मिलकर विश्व में शांति और सदभाव बढ़ाने की दिशा में महत्वपूर्ण भूमिका निभायेंगे। राज्यपाल श्री कोहली ने 'वायब्रैंट इंडो-आसियान लीडरशिप' नामक पुस्तक का विमोचन भी किया।

इस अवसर पर विदेश मंत्री श्रीमती सुषमा स्वराज ने यूथ समिट के प्रतिनिधियों का अभिवादन करते हुए कहा कि बदलाव की सर्वाधिक क्षमता युवा वर्ग में है। गौतम बुद्ध के विचारों में युवावस्था में आये परितर्वन ने सम्पूर्ण विश्व को नई दिशा दी। उनके मध्य मार्ग के सिद्धांत का सार्वभौमिक और सर्वकालिक प्रभाव है। वर्तमान में शासन संचालन और नीति निर्माण तथा सतत् विकास के लक्ष्यों के संबंध में युवाओं की महत्ती भूमिका है। युवाओं को तर्क करने और योजनाओं के क्रियान्वयन में सहभागिता करने निर्णय प्रक्रिया में भाग लेने के बहुत मौके उपलब्ध हैं। श्रीमती स्वराज ने गौतम बुद्ध को उद्घृत करते हुए कहा कि ' शांति से बड़ा कोई वरदान नहीं है। युवा वर्ग विश्व को सतत् शांति और विकास की दिशा में अग्रसर करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभायेगा। उन्होंने आशा व्यक्त की कि भोपाल यूथ डिक्लेरेशन आसियान देशों की भविष्य की मैत्री और परस्पर प्रगति का मार्ग प्रशस्त करेगा।

इस अवसर पर संयुक्त राष्ट्र की यूथ एन्वाय सुश्री जयथमा विक्रमानायके ने अपने संबोधन में कहा कि संयुक्त राष्ट्र के सतत् विकास लक्ष्य की सफलता आसियान देशों में इन लक्ष्यों के सफल क्रियान्वयन पर निर्भर करती है। भारतीय युवा की सृजन, नवाचार और पहल की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि कौशल और क्षमता विकास की दिशा में हो रहे प्रयास से क्षेत्र में प्रगति के नये आयाम अर्जित होंगे। समापन अवसर पर विदेश मंत्री श्रीमती स्वराज ने विदेशी प्रतिनिधियों के सम्मान में भोज दिया।

 
विभागीय समाचार

नवीनतम समाचार 

न्यूट्रीशन सेंसिटिव एग्रीकल्चर पर भोपाल में होगी अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठी
रक्षाबंधन से व्यसन मुक्ति के लिए विशेष अभियान चलाया जाएगा : मंत्री श्रीमती चिटनीस
विश्व स्तनपान सप्ताह एक से 7 अगस्त तक
स्तनपान शिशु के लिये सम्पूर्ण आहार : श्रीमती चिटनिस
महिला आयोग में 96 प्रकरण की सुनवाई
पोषण परिपूर्ण ग्राम विकसित किये जायेंगे-महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती चिटनिस
विश्व ओआरएस दिवस 29 जुलाई को
तेजस्वनी प्रोजेक्ट के एसएचजी के संवर्द्धन के लिये हुआ एमओयू
देश में मॉडल बना राज्य महिला आयोग
महिलाओं को आर्थिक रूप से सशक्त बनाया जा सकता है महिला-बाल विकास मंत्री श्रीमती चिटनिस
सौर ऊर्जा से रोशन होंगे 20 हजार आँगनवाड़ी केन्द्र
राज्य महिला आयोग कोलकाता में राष्ट्रीय परिसंवाद में भाग लेगा
महिला आयोग ने बिखरे परिवारों को जोड़ा
सम्मानपूर्वक जीवन के लिये बच्चों को पढ़ाई के साथ कौशल प्रशिक्षण से जोड़ें
महिला आयोग की संयुक्त बेंच सुनवाई 17-18 जुलाई को भोपाल में
महिला-बाल विकास मंत्री श्रीमती चिटनिस ने बुरहानपुर में किया वृक्षारोपण
महिला-बाल विकास मंत्री श्रीमती चिटनिस का दौरा कार्यक्रम
राज्य महिला आयोग द्वारा जन-जागृति के लिये समितियाँ गठित
मंत्री श्रीमती चिटनिस 16 जून को भोपाल आएंगी
ग्रामीण महिलाओं के लिये महिला आयोग करेगा शक्ति समिति का गठन