| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | हिन्दी | English | संपर्क करें | साइट मेप
You Tube
पिछला पृष्ठ

View in EnglishDownload Kruti News Download Chanakya News

नागरिक सेवा प्रणाली को प्रभावी बनाने के लिये 23 विभाग की 164 सेवाएँ लोक सेवा गारंटी के दायरे में

नागरिक क्षेत्र में 413 लोक सेवा केन्द्र संचालित

भोपाल : रविवार, जनवरी 1, 2017, 18:13 IST
 

मध्यप्रदेश में लोक सेवाओं के प्रदान की गारंटी अधिनियम में नागरिक अधिकारों को मजबूत किया गया है। अधिनियम के दायरे में 23 विभाग की 164 सेवाओं को लाया गया है। इनमें से 110 सेवाएँ नागरिकों को ऑनलाइन प्रदान की जा रही हैं।

प्रदेश में नागरिकों को बेहतर सुविधा प्रदान करने के लिये सभी विकास खण्ड, तहसील एवं नागरिक क्षेत्र में 413 लोक सेवा केन्द्र पी.पी. मॉडल पर संचालित किये जा रहे हैं। राज्य सरकार ने एम.पी. ऑनलाइन कियोस्क को भी लोक सेवा गारंटी के अन्तर्गत सेवा देने के लिये अधिकृत किया है। नागरिकों को अब ऑनलाइन डिजिटल सिग्‍नेचर सर्टिफिकेट प्रदान किये जा रहे हैं। समस्त डिजिटल हस्ताक्षरित सर्टिफिकेट एक कॉमन रिपॉजिटरी वेबसाइट mpedistrict पर उपलब्ध है।

सरकारी प्रक्रियाओं को सरल बनाकर स्व-घोषणा-पत्र के आधार पर स्थानीय निवासी और आय प्रमाण-पत्र जारी किये जा रहे हैं। राज्य सरकार का यह कदम लोक सेवा के क्षेत्र में महत्वपूर्ण है। प्रदेश में स्कूलों के छात्र-छात्राओं को जाति प्रमाण-पत्र प्रदान करने के लिये अभियान चलाया गया। अब तक एक करोड़ 10 लाख जाति प्रमाण-पत्र डिजिटल हस्ताक्षरित रंगीन प्रदान किये जा चुके हैं। लोक सेवा प्रबंधकों द्वारा लोक सेवा गारंटी अधिनियम में सीएम हेल्पलाइन 181 का जमीनी स्तर पर प्रभावी रूप से क्रियान्वयन किया जा रहा है।

इन्टीग्रेशन प्रक्रिया

नागरिकों को राज्य शासन से संबंधित अधिक से अधिक सेवाएँ समय-सीमा में सरलता से और आसानी मिल सके, इसके लिये इन्‍टीग्रेशन प्रक्रिया अपनाई गई है। नवीन नीति अनुसार लोक सेवा केन्द्रों के जरिये दी जाने वाली सभी सेवाएँ एम.पी. ऑनलाइन, कियोस्क के माध्यम से तथा एम.पी.आनलाइन की चिन्हित सेवाएँ लोक सेवा केन्द्रों के माध्यम से प्रदान की जा रही है। लोक सेवा केन्दों एवं एम.पी.आनलाइन के इंटीग्रेशन प्रक्रिया, नवीन पेमेंट गेटवे तथा सी.एम.हेल्पलाइन के संबंध में लोक सेवा प्रबंधकों और एम.पी.ऑनलाइन टीम को प्रशिक्षण दिया गया है।

सेवाओं की गुणवत्ता को बनाने के लिये जिला प्रबंधक एंव एम.पी. ऑनलाइन को-ऑर्डिनेटर को मास्टर ट्रेनर के रूप में प्रशिक्षित किया जा रहा है। यह मास्टर ट्रेनर अपने-अपने जिलों में लोक सेवा केन्द्रों एवं एम.पी. ऑनलाइन कियोस्क आपरेटर्स को जिला स्तर पर आर.सी.बी.सी. सेंटर से इस प्रोजेक्ट में प्रशिक्षण देंगे।

 
विभागीय समाचार

नवीनतम समाचार 

स्थानीय निवासी और आय प्रमाण-पत्र का प्रदाय अब ई-केवायसी के माध्यम से
लोक सेवा गारंटी में दो अधिकारी पर अर्थदण्ड
37.75 करोड़ लागत से सीमेंट-कांक्रीट से बनेगा मनावर-सेमल्दा और मांडवी पहुँच मार्ग
राज्य सेवा मुख्य परीक्षा-2016 की लिखित परीक्षा 2 नवम्बर से
परीक्षा पूर्व प्रशिक्षण केन्द्रों से अजा-अजजा के 47 अभ्यर्थी को पीएससी में मिली सफलता
परीक्षा पूर्व प्रशिक्षण केन्द्र के 12 अभ्यर्थी का पी.एस.सी. में चयन
एमपीपीएससी ने बतायी परीक्षार्थियों की सुविधा के लिये परीक्षा-कक्ष में वर्जित वस्तुएँ
एम.पी.पी.एस.सी. द्वारा सहायक प्राध्यापक परीक्षा-2016 की तिथियाँ घोषित
विभिन्न प्रदेश के लोक सेवा आयोग के अधिकारियों का ब्रेन स्टॉर्मिंग सेशन
लोक सेवाओं के प्रदाय की गारंटी सुशासन का सशक्त माध्यम
25 सितम्बर को मनेगा लोक सेवा दिवस
सुशासन लाने के लिए सक्रिय हों लोकसेवा केंद्र