| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | हिन्दी | English | संपर्क करें | साइट मेप
You Tube
पिछला पृष्ठ

View in EnglishDownload Kruti News Download Chanakya News
"नमामि देवि नर्मदे"-सेवा यात्रा

नदी संरक्षण का विश्व में सबसे बडा अभियान है नर्मदा सेवा यात्रा : मुख्यमंत्री श्री चौहान

सुधांशु महाराज ने नर्मदा सेवा यात्रा को दिया आर्शीवाद

भोपाल : शुक्रवार, मार्च 24, 2017, 22:51 IST

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि नर्मदा सेवा यात्रा विश्व में नदी संरक्षण का सबसे बड़ा अभियान है। गंगा-जमुनी संस्कृति का अनूठा संगम इस यात्रा में देखने को मिल रहा है। सभी धर्मों के लोग पर्यावरण व जल संरक्षण के प्रति जागरूकता पैदा करने के लिये समन्वित प्रयास कर रहे हैं। उन्होने कहा कि नर्मदा सेवा यात्रा प्रारम्भ करने मंशा नर्मदा नदी व अन्य नदियों के संरक्षण, स्वच्छता, तथा वृक्षारोपण के प्रति जन-जागरूकता लाने के साथ नशा मुक्ति के लिये समाज में माहोल तैयार करना तथा जैविक खेती को बढावा देना है। मुख्यमंत्री श्री चौहान सीहोर जिले के बुधनी विकासखंड मुख्यालय में नर्मदा सेवा यात्रा में जन संवाद कार्यक्रम में संम्बोधित कर रहे थे।

भोपाल जिले की नर्मदा सेवा उपयात्रा में 300 से अधिक मुस्लिमजन हुए शामिल

नर्मदा सेवा यात्रा का आज बुधनी में आगमन हुआ। भोपाल जिले से उपयात्रा हुजूर विधायक श्री रामेश्वर शर्मा के नेतृत्व में बुधनी में मुख्य यात्रा में शामिल हुई।

यात्रा में भोपाल के प्यारे मियॉ के नेतृत्व में लगभग 300 से अधिक मुस्लिम भाई भी शामिल हुये। प्यारे मियॉ ने कहा कि पानी धर्मं और कर्म से भी उपर है। इसकी रक्षा हम सभी को करना है। उन्होंने सभी से पानी की फिजूलखर्ची रोकने की अपील भी की। उन्होंने कहा की मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पानी के संरक्षण के लिए जो नर्मदा सेवा यात्रा शुरू की है वह सराहनीय है।

नगरीय विकास मंत्री श्रीमती माया सिंह, लोक निर्माण मंत्री श्री रामपाल सिंह, पूर्व मुख्यमंत्री श्री बाबूलाल गौर, विश्वविख्यात संत श्री सुधांशु महाराज, उज्जैन के संत श्री शांति स्वरूप, प्रख्यात भजन गायक श्री लखवीर सिंह लख्खा, विधायक श्री रामेश्वर शर्मा, मार्क फेड के अध्यक्ष श्री रमाकांत भार्गव, खनिज विकास निगम अध्यक्ष श्री शिव चोबे, वेयर हाउस कार्पोरेशन अध्यक्ष श्री आर.एस. राजपूत, साध्वी सुश्री प्रज्ञा भारती सहित विभिन्न संत उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री श्री शिवराज चौहान ने कहा कि नर्मदा नदी ग्लेशियर से नहीं निकलती है। वर्षा ऋतु के दौरान जमीन द्वारा सोखा गया जल केवल वृक्षों की जड़ो के माध्यम से नर्मदा को पोषित करता है। इसलिये नर्मदा के दोनों तटों पर एक-एक किलोमीटर क्षेत्र में वृक्षारोपण के लिये आगामी 2 जुलाई से विशेष अभियान शुरू होगा। एक ही दिन में बड़वानी अलीराजपुर से लेकर अमरकंटक तक करोडों पौधे नर्मदा तट पर लगाये जाएंगे। उन्होंने कहा कि नर्मदा तटों पर 5 किलोमीटर क्षेत्रों में आगामी 1 अप्रैल से कोई शराब की दुकान संचालित नहीं होगी। इसके लिये सरकार ने आदेश भी जारी कर दिये हैं।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ग्रामीणों से अपील की कि वे अपने घरो में स्वच्छ शौचालय बनवायें। उन्होंने कहा कि नर्मदा तटों पर स्थित शहरों में सीवेज ट्रीटमेंट प्लाँट स्थापित कर वहाँ के गंदे पानी को साफ कर इसका उपयोग सिंचाई के लिये किया जायेगा। अब कोई गंदा नाला नर्मदा नदी में नहीं मिलने दिया जाएगा।

संत श्री सुधांशु महाराज ने कहा कि मॉ नर्मदा का पृथ्वी पर अवतरण भगवान शंकर की कृपा और आशीर्वाद से हुआ है। नर्मदा की इतनी महिमा है कि इसका एक-एक कंकर नर्मदेश्वर शंकर के रूप में पूजा जाता है। आज इसी मॉ नर्मदा को प्रदूषण मुक्त तथा नर्मदा में जल के अविरल प्रवाह के लिए मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने नर्मदा सेवा यात्रा शुरू की है जो स्तुत्य है।

नर्मदा यात्रा के बुधनी आगमन पर नगर को आकर्षक ढंग से सजाया गया। बुधनी व ग्वाडिया के बीच लगभग सभी घरों के सामने आकर्षक रांगोली नर्मदा सेवा यात्रा के सम्मान में सजाई गयी थी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने नर्मदा आरती भी की।

 
विभागीय समाचार

नवीनतम समाचार 

नर्मदा नदी में जलकुंभी के फैलाव को रोकने के स्थायी उपाय करें
नर्मदा ने हमें सब कुछ दिया, हम भी नर्मदा को प्रदूषणमुक्त बनाने का संकल्प लें
90 वर्षीय भूरियाबाई की आँखों की जाँच कराकर दिलाये अच्छा चश्मा
निवेश के माध्यम से रोजगार बढ़ाने के प्रयास
रोजगार की संभावनाओं को खोजने होगा वैश्विक समिट
दो जुलाई को नर्मदा किनारे 10 करोड़ पौधे रोपे जायेंगे
स्वर्गीय श्री गुरूचरण सिंह का जीवन प्रेरणादायी -मुख्यमंत्री श्री चौहान
विश्व जल दिवस और नमामि देवि नर्मदे सेवा यात्रा का महत्व - शिवराजसिंह चौहान
नर्मदा तट पर 2 जुलाई को एक साथ रोपे जायेंगे लाखों पौधे
मुख्यमंत्री श्री चौहान से आज अमेरिका से लौटी श्रीमती रेखा पंदराम ने की भेंट
नर्मदा नदी के दोनों तटों के ग्रामों को खुले में शौच मुक्त किया जाएगा
वनोपज और हरियाली बचाने के साथ पौध-रोपण भी करें
महान वीरांगना थी रानी अवंति बाई– मुख्यमंत्री श्री चौहान
नर्मदा के प्रति कृतज्ञता प्रगट करने उमड़ा जन सैलाव
आनंद विभाग का गठन और नर्मदा सेवा यात्रा अभिनंदन करने योग्य-बौद्ध धर्म गुरू श्री लामा
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने की विदिशा में बाढ़ वाले गणेश मंदिर में की पूजा-अर्चना
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने दी योगी आदित्यनाथ को बधाई
समृद्ध होती रहे भोपाल की गंगा जमुनी तहजीब - मुख्यमंत्री श्री चौहान
बौद्ध धर्मगुरू श्री दलाई लामा का प्रदेश आगमन पर भावभीना स्वागत
विकास का प्रकाश आम आदमी तक पहुँचने तक विकास बेमानी