social media accounts
दिनांक
विभाग
भोपाल : गुरूवार, अप्रैल 26, 2018, 20:24 IST

प्रदेश में गरीबो की भलाई का नया इतिहास रचा - मुख्यमंत्री श्री चौहान

मध्यप्रदेश गरीबों के लिए सर्वाधिक योजनाएँ संचालित करने वाला प्रदेश
मुंगावली 25 करोड़ से मिनी स्मार्ट सिटी बनेगी

 

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि उनका मकसद प्रदेश के गरीबों की जिंदगी में बदलाव लाना है। इसी दिशा में राज्य सरकार ने प्रदेश में गरीबों की भलाई के लिए नया इतिहास रचा है। गरीबों के कल्याण एवं उत्थान के लिए सर्वाधिक योजनाएँ संचालित करने वाला मध्यप्रदेश देश का ही नहीं दुनिया का एकमात्र राज्य है। मुख्यमंत्री श्री चौहान अशोकनगर जिले के मुंगावली में तेंदूपत्ता संग्राहक एवं असंगठित श्रमिकों के सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे।

100 करोड़ के विकास/निर्माण कार्यों का लोकार्पण/भूमि-पूजन

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने 100 करोड़ की लागत के निर्माण और विकास कार्यों का भूमि-पूजन एवं लोकार्पण किया। उन्होंने 25 करोड़ की लागत से बनने वाली मुंगावली मिनी स्मार्ट सिटी का भूमि-पूजन भी किया। मुख्यमंत्री ने तेंदूपत्ता संग्राहकों के खातों में सवा करोड़ की बोनस राशि आर.टी.जी.एस के माध्यम से सीधे जमा कराई। उन्होंने तेंदूपत्ता संग्राहकों को चरण पादुका के रूप में जूते, चप्पल, पानी की बोतल और महिलाओं को साड़ी प्रदाय की। कार्यक्रम में 66 लाख से ज्यादा हितग्राहियों को 82 करोड़ के हित-लाभ भी मुख्यमंत्री ने वितरित किये।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मुंगावली स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के टेन्डर शीघ्र किये जाकर कार्य शुरू होगा। उन्होंने कहा कि मुंगावली संबंधी पूर्व घोषणाओं को स्वीकृत कर कार्य भी शुरू हो गया है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि उनकी सरकार सभी वर्गों के कल्याण के लिए कार्य कर रही है। दीन-दुखियों, गरीब मजदूर, किसानों के लिए सरकार पहले है। उन्होंने मुंगावली के पत्रकार स्व. गणेश शंकर विद्यार्थी का स्मरण भी किया। उन्होंने कहा कि मजदूरों के कल्याण, असंगठित मजदूरों, तेंदूपत्ता तोड़ने, महुआ फूल संग्रहण करने वाले मजदूरों को जूते-चप्पल, साड़ी और ठण्डा पानी पीने के लिए पानी की बोतल प्रदाय की गई है। प्रदेश में सभी मजदूरों को जमीन के पट्टे दिये जायेंगे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना में वर्ष 2022 तक सभी आवासहीन परिवारों को आवास उपलब्ध करवाये जायेंगे। योजना में अशोकनगर जिले के 18 हजार से अधिक आवासहीनों के आवास स्वीकृत किये गये हैं।

सभी वर्गों के गरीब छात्र-छात्राओं की उच्च शिक्षा की फीस राज्य सरकार भरेगी

मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी वर्गों के गरीब छात्र-छात्राओं की उच्च शिक्षा जैसे इंजीनियरिंग, मेडिकल, आई.आई.टी. आदि पाठ्यक्रमों में लगने वाली फीस की राशि राज्य सरकार भरेगी। सभी गरीबों का इलाज निःशुल्क करवाया जायेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि श्रमिक परिवार की गर्भवती माताओं को छ: माह से नौ माह तक 4 हजार रूपये एवं प्रसव के बाद पौष्टिक आहार के लिये 12 हजार की राशि के रूप में प्रदेश में इस वर्ष लगभग 17 करोड़ की राशि महिलाओं के खातों में जमा करवाई जायेगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि शासन द्वारा घोषित समर्थन मूल्य पर गत वर्ष गेहूँ बेचने वाले किसानों के खातों में इस वर्ष कृषक समृद्धि योजना में 200 रूपये प्रति क्विंटल के मान से 1700 करोड़ की राशि जमा होगी। उन्होंने कहा कि शासन द्वारा घोषित समर्थन मूल्य पर इस वर्ष पंजीकृत किसानों द्वारा गेहूँ बेचने पर 265 रूपये और चना, सरसों, मसूर बेचने पर 100 रूपये प्रति क्विटंल के मान से बोनस राशि जमा करवाई जायेगी।

मुख्यमंत्री ने की महिलाओं के स्व-सहायता समूहों की सराहना

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रदेश में आजीविका मिशन एवं महिला स्व-सहायता समूहों की महिलाओं द्वारा संचालित गतिविधियों की सराहना की। उन्होंने कहा कि महिला स्व-सहायता समूहों के माध्यम से महिलाओं को आत्म-निर्भर बनाने के लिए प्रदेश में मुर्गी दाने का कारखाना, स्कूली बच्चों के लिए गणवेश बनाने का प्रशिक्षण देकर उनकी बैंकों से लिंकिंग कर फेडरेशन बना कर सहायता दी जायेगी। इन व्यवसायों के लिए स्व-सहायता समूहों की महिलाओं को शासन द्वारा तकनीकी सहायता भी दी जायेगी।

श्रमिकों को 200 रूपये फ्लेट रेट पर मिलेगी बिजली

मुख्यमंत्री ने बताया कि 60 वर्ष से कम आयु के मजदूर की मृत्यु होने पर 02 लाख की और दुर्घटना से मृत्यु होने पर 04 लाख रूपये की राशि परिवार को दी जायेगी। मजदूरों के परिवारों को 200 रूपये फ्लेट रेट पर बिजली दी जायेगी। श्रमिक की मृत्यु होने पर उसके अंतिम संस्कार के लिए 05 हजार रूपये की सहायता दी जायेगी। उन्होंने जन-समुदाय से बेटा-बेटी के बीच में भेदभाव न करने को कहा। श्री चौहान ने कहा कि बेटी के जन्म से लेकर शादी तक की जवाबदारी राज्य सरकार ने ली है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि बेटी एवं महिलाओं के साथ छेडखानी एवं दुराचार करने वाले दुराचारियों को फाँसी की सजा देने का विधेयक पारित किया गया है। कार्यक्रम के शुरू में कन्या-पूजन किया गया।

गणेश शंकर विद्यार्थी के जीवन पर केन्द्रित पुस्तिका का विमोचन

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ''गणेश शंकर विद्यार्थी : सामाजिक चेतना के सारथी'' पुस्तक का विमोचन भी किया। उन्होंने लेखक श्री नीरज शुक्ला को शुभकामनाएँ दी। पुस्तक विद्यार्थी जी के जीवन-दर्शन पर केन्द्रित है।

कार्यक्रम में मध्यप्रदेश लघु वनोपज संघ के अध्यक्ष श्री महेश कुमार कोरी, असंगठित कर्मकार मण्डल के अध्यक्ष श्री सुल्तान सिंह शेखावत, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती बाईसाहब यादव, विधायक श्री गोपीलाल जाटव, श्री जयकुमार सिंघई, पूर्व विधायक श्री राजकुमार यादव, बड़ी संख्या में तेंदूपत्ता संग्राहक, असंगठित श्रमिक एवं नागरिक उपस्थित थे।

के.के. जोशी

रोजगारमूलक शिक्षा समय की सबसे बड़ी जरूरत - मुख्यमंत्री श्री चौहान
आदिवासी महिलाएँ जो कार्य कर रही है वह महिला सशक्तिकरण का प्रतीक : मुख्यमंत्री श्री चौहान
गरीबी से जंग में जीत की प्रतीक हैं पोल्ट्री प्रोड्यूसर्स कंपनी की बहनें- शिवराज सिंह चौहान
सर्वांगीण विकास सभी की सामूहिक जवाबदारी : मुख्यमंत्री श्री चौहान
पंचायत प्रतिनिधि ऐतिहासिक काम में अपनी शक्ति और समय लगाये : प्रधानमंत्री श्री मोदी
नर्मदा नियंत्रण मण्डल द्वारा 5993 करोड़ की सूक्ष्म उद्वहन सिंचाई परियोजनायें स्वीकृत
संग्रहालय से आदिगुरू के जीवन-दर्शन की प्रेरणा मिले : मुख्यमंत्री श्री चौहान
समाज को बदलने आगे आये जन अभियान परिषद
महिलाओं के विरुद्ध अपराधों को रोकने के लिये सभी समाज एकजुट हों : लोकसभा अध्यक्ष
परिचय सम्मेलन में छह जोड़ों का विवाह सम्पन्न
सभी समुदाय युवाओं को कैरियर और शिक्षा संबंधी परामर्श दें - मुख्यमंत्री श्री चौहान
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने की लोकसभा अध्यक्ष श्रीमती महाजन की अगवानी
सभी पात्र श्रमिकों को मिलेगा असंगठित श्रमिक कल्याण योजना का लाभ
उपार्जन में व्यवधान डालने वाले तत्वों पर होगी कार्रवाई - मुख्यमंत्री श्री चौहान
दुराचारियों को फाँसी देने का केन्द्र का अध्यादेश ऐतिहासिक : मुख्यमंत्री श्री चौहान
योजनाओं और कार्यक्रमों की सफलता सुनिश्चित करना सिविल सेवकों का दायित्व
महिला सशक्तिकरण के क्षेत्र में मध्यप्रदेश देश का अग्रणी राज्य बनेगा - मुख्यमंत्री श्री चौहान
इस वर्ष एक लाख सरकारी पदों पर होगी भर्तिंयां- मुख्यमंत्री श्री चौहान
भारत पिरामिड ध्यान मंदिर जीवन के रहस्य सीखने में मददगार होगा : मुख्यमंत्री श्री चौहान
वन उत्पादों का बाजार मूल्य कम होने पर सरकार समर्थन मूल्य पर खरीदेगी