social media accounts

आज के समाचार

पिछला पृष्ठ

तीसरे चरण के मतदान के लिये दस संसदीय क्षेत्र में तैयारियाँ पूरी

19 हजार से अधिक मतदान केन्द्रों में 23 हजार से अधिक ईव्हीएम इस्तेमाल होगी
1.06 लाख मतदानकर्मी करायेंगे मतदान
103 सीएपीएफ और 50 एसएएफ की कम्पनी संभालेंगी सुरक्षा मोर्चा
 

भोपाल : मंगलवार, अप्रैल 22, 2014, 20:53 IST
 

मध्यप्रदेश में लोकसभा चुनाव का तीसरा चरण 10 संसदीय क्षेत्र में 24 अप्रैल को मतदान के साथ संपन्न होगा। तीसरे चरण में विदिशा, देवास (अजा), उज्जैन (अजा), मन्दसौर, रतलाम (अजजा), धार (अजजा), इन्दौर, खरगोन (अजजा), खण्डवा और बैतूल (अजजा), में एक करोड़ 69 लाख 53 हजार 358 मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग करेंगे। इनमें पुरूष मतदाताओं की संख्या 87 लाख 81 हजार 495, महिला मतदाताओं की संख्या 81 लाख 71 हजार 532, अन्य मतदाताओं की संख्या 349 है। इसके अलावा 5 हजार 230 सर्विस वोटर भी हैं।

दस संसदीय क्षेत्र में 20 जिले और 80 विधानसभा क्षेत्र शामिल हैं, जहाँ मतदान के दिन सुबह 7 बजे शाम 6 बजे तक वोट डाले जायेंगे। सत्रह महिला उम्मीदवार सहित कुल 118 उम्मीदवार 10 संसदीय क्षेत्र में अपना भाग्य अजमायेंगे। इतने ही उम्मीदवार वर्ष 2009 के लोकसभा चुनाव में उतरे थे। चुनाव वाले सभी क्षेत्रों में मतदान और कानून एवं सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किये गये हैं। मतदान दलों को पूर्ण तैयारियों से लेस कर दिया गया है। सभी मतदान दल 23 अप्रैल को मतदान केन्द्र की ओर रवाना होंगे तथा रात्रि विश्राम मतदान केन्द्र में ही करेंगे।

दस संसदीय क्षेत्र में 19 हजार 446 मतदान केन्द्र स्थापित किये गये हैं। इसमें 378 सहायक मतदान केन्द्र सम्मिलित हैं। सर्वाधिक 2207 मतदान केन्द्र इंदौर संसदीय क्षेत्र में और सबसे कम 1722 धार में हैं। इसके अलावा विदिशा में 1973, देवास में 1917, उज्जैन में 1823, मन्दसौर में 1898, रतलाम में 1983, खरगोन में 1877, खण्डवा में 1965 और बैतूल में 2081 मतदान केन्द्र स्थापित किये गये हैं। तृतीय चरण में कुल 23 हजार 854 बैलेट यूनिट (ईवीएम) और 21 हजार 424 कंट्रोल यूनिट (सीयू) उपयोग में लाई जायेंगी।

मतदान सम्पन्न करवाने के लिये नियुक्त एक लाख 6 हजार 278 मतदानकर्मियों में 84 हजार 650 शासकीय कर्मचारी, 16 हजार 162 पुलिसकर्मी, 5 हजार 466 ड्रायवर-कंडक्टर तैनात किये गये हैं। इसके अलावा 14 सामान्य प्रेक्षक, 10 निर्वाचन व्यय प्रेक्षक, 80 सहायक निर्वाचन व्यय प्रेक्षक, 2601 माइक्रो आब्जर्वर भी तैनात किये गये हैं।

तीसरे चरण में चुनाव लड़ रहे उम्मीदवारों में सबसे अधिक 22 इंदौर में तथा सबसे कम 7 धार में हैं। अन्य संसदीय क्षेत्र विदिशा और उज्जैन में 12-12, देवास में 11, मंदसौर और खण्डवा में 14-14, रतलाम में 10, खरगोन और बैतूल में 8-8 उम्मीदवार शामिल हैं। दस संसदीय क्षेत्र में देवास और उज्जैन अनुसूचित जाति और रतलाम, धार, खरगोन एवं बैतूल अनुसूचित जनजाति वर्ग के लिये आरक्षित संसदीय क्षेत्र हैं।

सुरक्षा व्यवस्था

दस संसदीय क्षेत्र में कड़ी सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गये हैं। रतलाम, खरगोन, उज्जैन और इन्दौर सहित अन्य क्षेत्र में सीएपीएफ (सेन्ट्रल आर्म्स पुलिस फोर्स) की 103 कम्पनी तैनात की गई है। इसके अलावा एसएएफ की 50 कम्पनी भी इन क्षेत्रों में सुरक्षा का मोर्चा संभालेंगी। लगभग 2440 पुलिस अधिकारी, 16 हजार 289 प्रधान आरक्षक/आरक्षक, 10 हजार 730 होमगार्ड के जवान तथा 19 हजार 447 विशेष पुलिस अधिकारी (एसपीओ) सुरक्षा की चॉक-चौबंद व्यवस्था रखेंगे। अंतर्राज्यीय सीमाओं वाले जिले में भी कड़ी चौकसी की व्यवस्था की गई है। संसदीय क्षेत्रों को जोड़ने वाली सीमाओं पर नाकेबंदी की गई है। बिना तलाशी के वाहनों को वहाँ गुजरने नहीं दिया जा रहा है। वल्नरेबल मेपिंग के तहत 564 मजरे-टोलों की पहचान कर 10 हजार 998 मतदाताओं को चिन्हांकित किया गया है। इन क्षेत्रों में 71 हजार 801 लायसेंसी शस्त्रों को जमा करवाया गया है। सीआरपीसी की धारा 107 के तहत 43 हजार 196 व्यक्तियों को बाउण्ड ओवर किया गया है। मतदान के दिन भी 249 फ्लाइंग स्कवाड और 245 एसएसटी, 240 क्यूआरटी (क्विक रिस्पांस टीम), 240 नाका (103 अंतर्राज्यीय एवं 137 अंतर-जिला) तथा 1734 सेक्टर पुलिस मोबाइल तैनात रहेंगी।

वेब-कास्टिंग

मतदान के दिन 19 हजार 446 मतदान केन्द्रों में से क्रिटिकल श्रेणी के 416 मतदान केन्द्रों में वेबकास्टिंग करवाई जायेगी। इन केन्द्रों में वेब कैमरे द्वारा प्रत्येक गतिविधि पर नजर रखी जायेगी। वेब-कास्टिंग वाले मतदान केन्द्रों की गतिविधियों को मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी मध्यप्रदेश की वेबसाइट http://www.ceomadhyapradesh.nic.in/ पर भी देखा जा सकेगा। दस संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत शामिल 20 जिले में क्रिटिकल मतदान केन्द्रों की संख्या 2 हजार 901 है। इन मतदान केन्द्रों में कड़ी सुरक्षा की दृष्टि से सीएपीएफ (सेन्ट्रल आर्म्स पुलिस फोर्स) का अमला तैनात किया जायेगा। क्रिटिकल मतदान केन्द्रों में सुरक्षा के मद्देनजर 2 हजार 601 माइक्रो आब्जर्वर, 484 स्टिल कैमरा और एक हजार 584 वीडियोग्राफी की व्यवस्था भी की गई है। इस प्रकार कुल मिलाकर 2 हजार 901 क्रिटिकल मतदान केन्द्र माइक्रो आब्जर्वर, स्टिल कैमरा, वीडियोग्राफी दल और वेबकास्टिंग के दायरे में रहेंगे।


प्रलय श्रीवास्तव
चरणबद्ध तिथियों में होगा ग्राम सभाओं का आयोजन
बिजली चोरी के 5 प्रकरण में 4.54 लाख रुपये से ज्यादा की बिलिंग
तीसरे चरण के 10 संसदीय क्षेत्र में सवैतनिक अवकाश की सुविधा
मतदाता जान सकते हैं एस.एम.एस. द्वारा वोटर लिस्ट में अपनी स्थिति
मतदान प्रारंभ होने के एक घंटे पहले होगा मॉक पोल
मतदाताओं को लुभाने की फोटो, वीडियो, ऑडियो सीधे अपलोड हो सकेगी
तीसरे चरण के संसदीय क्षेत्र में मतदान का प्रतिशत बढ़ाने हों उपाय
दूसरे चरण के 6 मतदान केन्द्र में 68.56 प्रतिशत मतदान
तीसरे चरण के मतदान के लिये दस संसदीय क्षेत्र में तैयारियाँ पूरी
मतदान शांतिपूर्वक सम्पन्न
मतदान दिवस पर वैकल्पिक दस्तावेज प्रस्तुत करने की सुविधा
1