social media accounts

आज के समाचार

पिछला पृष्ठ

मतगणना की प्रक्रिया और परिणाम की घोषणा में सभी जिले सावधानी रखें

निष्पक्ष और पारदर्शी हो मतगणना संबंधी समस्त कार्य : चुनाव आयोग 

भोपाल : सोमवार, मई 12, 2014, 19:23 IST
 

भारत निर्वाचन आयोग ने 16 मई को होने वाली मतगणना की तैयारियों के संबंध में मध्यप्रदेश के निर्वाचन से जुड़े अधिकारियों के साथ आज वीडियो कान्फ्रेंसिंग की। वीडियो कान्फ्रेंसिंग में आयोग ने प्रदेश के सभी रिटर्निंग ऑफिसर, जिला निर्वाचन अधिकारी और सहायक निर्वाचन अधिकारियों को मतगणना की प्रक्रिया, प्रत्येक चक्र की जानकारी और चुनाव परिणाम की घोषणा में सावधानी बरतने को कहा। वीडियो कान्फ्रेंसिंग में आयोग की ओर से उप निर्वाचन आयुक्त श्री सुधीर त्रिपाठी, महानिदेशक श्री आशीष श्रीवास्तव, सचिव श्री सुमित मुखर्जी शामिल हुए। मध्यप्रदेश के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री जयदीप गोविन्द भी नई दिल्ली में आयोग के साथ सम्मिलित हुए। मध्यप्रदेश की ओर से अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री व्ही.एल. कान्ता राव और सभी 51 जिला कलेक्टर ने मतगणना की तैयारियों के संबंध में जानकारी दी।

श्री आशीष श्रीवास्तव ने कहा कि मतगणना संबंधी आयोग समस्त निर्देशों और चुनाव कानूनों का कड़ाई से पालन करवाया जाये। मतगणना संबंधी पूरी प्रक्रिया न सिर्फ पारदर्शी हो, बल्कि निष्पक्ष भी हो। जब तक संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले सभी विधानसभा क्षेत्रों की जानकारी न आ जाये तब तक परिणाम की घोषणा न की जाये। उन्होंने कहा कि मतगणना के कार्य में सतर्कता बरती जाये तथा यह सुनिश्चित किया जाये कि मतगणना सही समय पर शुरू हो। मतगणना संबंधी समस्त जानकारी की प्रविष्टि करते समय ध्यान रखा जाये कि उसमें कोई त्रुटि न हो। उन्होंने बताया कि प्रत्येक टेबिल पर एक माइक्रो आब्जर्वर भी तैनात रहेगा। संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले विधानसभा क्षेत्र की राउंडवार जानकारी फेक्स, ई-मेल अथवा नजदीक होने पर किसी अधिकृत व्यक्ति द्वारा बुलाई जाये। जानकारी प्राप्त होने के बाद टेलीफोन द्वारा उसकी पुष्टि भी करवाई जाये। मतगणना संबंधी प्रत्येक आँकड़े के सत्यापन की जिम्मेदारी रिटर्निंग ऑफिसर की होगी। आरओ मुख्यालय पर होने वाली डाक-मतपत्रों की गणना एवं टेबुलेशन उसी हॉल में किया जाये।

श्री श्रीवास्तव ने कहा कि मतगणना का कार्य बीच में किसी भी स्थिति में रोका न जाये। यदि ईवीएम में कोई खराबी आती है तो उसकी सूचना तत्काल आयोग को दी जाये तथा उसे सुधरवाने की कार्रवाई की जाये। उन्होंने स्पष्ट किया कि आयोग द्वारा रूझान एवं परिणाम की जानकारी लेने के लिये जेनेसिस सॉफ्टवेयर का निर्धारण किया गया है। कंट्रोल रूम राउंडवार प्राप्त मतों की जानकारी एकत्रित करेंगे। प्रत्येक चक्र की गणना होते ही जेनेसिस सॉफ्टवेयर में उससे संबंधित डाटा एन्ट्री करवाई जाये। डाक-मतपत्रों की गणना और जानकारी की प्रविष्टि में भी सावधानी रखने की हिदायत उन्होंने दी। उन्होंने मतगणना स्थल पर ले जाई जाने वाली प्रत्येक सामग्री की अच्छी तरह जाँच-पड़ताल करवाने के निर्देश भी जिलों को दिये।

श्री सुधीर त्रिपाठी ने कहा कि सभी जिला मुख्यालयों के लिए एक-एक मतगणना प्रेक्षक 14 मई की सुबह तक पहुँचेंगे। उन्होंने 15 मई तक जिलों को स्ट्राँग रूम संबंधी प्रमाण-पत्र भेजने के भी निर्देश दिये। आयोग ने मतगणना के दूसरे दिन 17 मई को सुबह तक परिणाम संबंधी सम्पूर्ण जानकारी मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को भेजने को कहा है। श्री जयदीप गोविन्द ने बताया कि प्रदेश के सभी जिलों में वेबकास्टिंग द्वारा स्ट्राँग रूम की निगरानी की जा रही है। मतगणना के प्रत्येक टेबिल पर एक-एक काउंटिंग एजेन्ट की भी अनुमति दी गई है। वीडियो कान्फ्रेंसिंग में संयुक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री एस.एस. बंसल सहित अन्य अधिकारी भी शामिल हुए।


प्रलय श्रीवास्तव
आज विद्युत प्रदाय अवरूद्ध क्षेत्र
प्रदेश में 60.03 लाख मेट्रिक टन गेहूँ उपार्जित
मुख्य सचिव वीडियो कान्फ्रेन्स में करेंगे कलेक्टर्स से चर्चा
सेवाकाल के विशिष्ट कार्यों का दस्तावेजीकरण करवाया जाएगा
विद्यार्थी उच्च शिक्षा ऋण के लिये करें ऑनलाइन आवेदन
स्व-वित्तीय योजना में बड़नगर कॉलेज को बी.बी.ए. पाठ्यक्रम की अनुमति
दो वर्ष से अधिक समय से लंबित सभी कार्यों को दिसम्बर अंत तक पूरा करें- संभागायुक्त श्री सिंह
गणना अभिकर्ताओं का प्रशिक्षण 13 मई को समन्वय भवन में
विदिशा विधानसभा उपचुनाव की मतगणना भी 16 मई को
लोकसभा सीटों की मतगणना जिलों में विधानसभा क्षेत्रवार होगी
मतगणना की प्रक्रिया और परिणाम की घोषणा में सभी जिले सावधानी रखें
1