| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | हिन्दी | English | संपर्क करें | साइट मेप
You Tube
पिछला पृष्ठ

View in English Download Kruti News Download Chanakya News

महिला बाल विकास मंत्री श्रीमती चिटनिस ने बाल दिवस से आरंभ किया "मिशन पालना"

प्रथम पालना भोपाल के नेहरू नगर बालिका गृह में स्थापित
दत्तक ग्रहण कराने में अग्रणी संस्थाओं के लिये पुरस्कार घोषित
 

भोपाल : मंगलवार, नवम्बर 14, 2017, 19:25 IST
 

महिला बाल विकास मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनिस ने कहा है कि नवजात शिशुओं को यहाँ-वहाँ छोड़ने की घटनाओं को देखते हुए उनका उचित पालन-पोषण सुनिश्चित करने के उद्देश्य से राज्य सरकार ने 'मिशन पालना' आरंभ करने का निर्णय लिया है। इस मिशन के अंतर्गत 14 नवंबर बाल दिवस से 14 जनवरी, 2018 मकर संक्रांति तक प्रदेश के सभी जिलों की बाल संरक्षण संस्थाओं, अस्पतालों और सामाजिक संस्थाओं में मॉडल पालना स्थापित किये जाएंगे। इससे जन्मदाता माता-पिता अपने आवंछित बच्चे का परित्याग करने पर उन्हें कचरा घरों अथवा झाड़ियों में न फेंकें, वरन् इन झूलों में रख दें ताकि बच्चों का जीवन खतरे में न पड़े और सरकार ऐसे बच्चों के उचित पालन-पोषण की व्यवस्था कर दत्तक ग्रहण की प्रक्रिया से उनके अच्छे जीवन का मार्ग प्रशस्त कर सके।

श्रीमती चिटनिस ने बाल संरक्षण संस्थाओं को दत्तक ग्रहण प्रक्रिया को त्वरित रूप से करने के लिये प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से पुरस्कारों की भी घोषणा की। उन्होंने कहा कि मार्च 2018 तक सर्वाधिक दत्तक ग्रहण करवाने वाली संस्था को 5 लाख रूपये, द्वितीय को 2.50 लाख रूपये और तृतीय क्रम पर आने वाली संस्था को 1.50 लाख प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। उल्लेखनीय है कि प्रदेश की विभिन्न संस्थाओं में 1738 बच्चे निवासरत हैं और गोद लेने के इच्छुक लगभग 3 हजार परिवार प्रक्रिया के अंतर्गत प्रतीक्षारत हैं।

श्रीमती चिटनिस ने बताया कि विभाग द्वारा सभी जिलों को मॉडल पालना उपलब्ध करवाया जा रहा है। जिला कलेक्टरों को निर्देश जारी किये गये हैं कि वे सीएसआर से जिलों की संस्थाओं में पालना स्थापित करायें। पालने को धूप, पानी और मौसम के प्रभाव से बचाने की समुचित व्यवस्था की जाएगी। इसके साथ ऐसी व्यवस्था होगी कि बच्चे को पालने में रखने के कुछ समय बाद संबद्ध संस्था को संकेत मिलेगा जिससे वे बच्चे की देखरेख संबंधी कार्यवाही कर सकेंगे।

Youtube
 
समाचारो की सूची
जनजातीय कार्य विभाग द्वारा संचालित छात्रावासों का युक्तियुक्तकरण करने की मंजूरी
प्रदेश में नई रेत खनन नीति 2017 लागू करने का निर्णय
ग्रामीण क्षेत्रों में विदयुत राजस्व संग्रहण की जिम्मेदारी महिला स्व-सहायता समूहों को देने पर विचार
सभी जिलों और तहसीलों में समाधान-एक दिन व्यवस्था लागू होगी
समाज के साथ नैतिक आंदोलन चलाने की आवश्यकता
स्वच्छता सर्वेक्षण 2018 में भोपाल को देश का नम्बर एक शहर बनाने में योगदान दें - मुख्यमंत्री श्री चौहान
"बिल्डिंग टूमॉरोस चैम्पियन" कार्यक्रम में खेल मंत्री श्रीमती सिंधिया होंगी मुख्य अतिथि
अयूब खां ने प्लास्टिक मल्चिंग विधि अपनाकर खेती को बनाया लाभ का धंधा
प्रदेश में टी.बी. के मरीजों को रोजाना दवा मिलना शुरू : स्वास्थ्य मंत्री श्री सिंह
महिला बाल विकास मंत्री श्रीमती चिटनिस ने बाल दिवस से आरंभ किया "मिशन पालना"
बच्चों को निर्भीक बनाएं : राज्य मंत्री श्रीमती ललिता यादव
राजस्व मंत्री द्वारा कोटरा में पेबिंग ब्लॉक का भूमि-पूजन
राजस्व मंत्री ने बाल दिवस पर विद्यार्थियों को किया पुरस्कृत
मुख्य सचिव ने केंद्रीय दल को प्रदेश में सूखे की स्थिति की दी जानकारी
अध्यापक संवर्ग के 4607 आवेदकों का हुआ अंतर-निकाय संविलियन
मुख्यमत्री बाल श्रवण योजना से लब्धि को मिली बोलने-सुनने की शक्ति
आयुर्वेद चिकित्सालय में हर माह दूसरे सोमवार को होगा नि:शुल्क मधुमेह परीक्षण
विश्व मधुमेह दिवस पर जे.पी. अस्पताल में हुई जागरूकता रैली
रेत खनन नीति - 2017 के प्रमुख बिन्दु
प्रत्येक पंचायत में होगी राशन दुकान : हर दुकान पर होगा स्वतंत्र विक्रेता
1