आज के समाचार

पिछला पृष्ठ

उपज का लाभकारी मूल्य पाकर खुश हैं सतना जिले के किसान

 

भोपाल : गुरूवार, दिसम्बर 7, 2017, 18:03 IST
 

भावांतर भुगतान योजना सतना जिले के किसानों को उनकी उपज का लाभकारी मूल्य दिलाने में मददगार साबित हुई है। भावांतर भुगतान योजना में सतना जिले की मण्डियों में खरीफ की सोयाबीन, तिल और उड़द लाकर बेचने वाले 410 किसानों के खातों में 61 लाख 10 हजार 889 रुपये की भावांतर राशि पहुँच चुकी है। कृषि उपज मण्डी में अपेक्षा से कम मूल्य पर अपनी फसल बेचने वाले किसान अंतर की भावांतर राशि मिलने से संतुष्ट हैं।

कृषि उपज मण्डी सतना में भावांतर भुगतान योजना शुरू होने वाले दिन 16 अक्टूबर को ग्राम पोईधाकला के किसान जगदीश चौधरी ने 16 क्विंटल सोयाबीन 2500 रुपये क्विंटल के भाव पर बेची। इसी गाँव के किसान मुकेश अग्रवाल ने 12.60 क्विंटल सोयाबीन इसी भाव पर बेची। उन्हें सोयाबीन बेचने की कीमत 25 हजार 200 रुपये मिल गई। इसके बाद भावांतर भुगतान योजना में समर्थन मूल्य और औसत मॉडल मूल्य के अंतर की राशि उनके खाते में पहुँच गई। ग्राम संत टोला जैतवारा के किसान दीपेन्द्र त्रिपाठी बताते हैं कि उन्होंने सतना कृषि उपज मण्डी में 2276 रुपये प्रति क्विंटल के भाव पर 15.87 क्विंटल सोयाबीन बेची। उन्हें व्यापारियों से उनकी फसल की कीमत 36 हजार 120 रुपये तत्काल मिल गई। एक महीने बाद उनके बैंक खाते में अंतर की राशि भी पहुँच गई। किसान दीपेन्द्र बताते हैं कि विपरीत परिस्थितियों में कम भाव पर अपनी उपज बेचने का उन्हें जरा भी मलाल नहीं है।

सतना कृषि उपज मण्डी में ग्राम जमोडी के किसान बेटू सिंह ने 4.14 क्विंटल उड़द बेची। इसी तरह ग्राम बिहटा के किसान रावेन्द्र सिंह ने 4.26 क्विंटल उड़द 2,099 रुपये प्रति क्विंटल के भाव पर बेची। इन्हें भी व्यापारियों से फसल की राशि तत्काल मिल गई। इसके बाद उनके खाते में भावांतर की राशि भी आ गई। किसान रामकरण पटेल बताते हैं कि सतना मण्डी पहुँचे तो फसल की डाक बोली का रेट 2899 से 3100 रुपये हो गया। उन्होंने एक क्विंटल 93 किलो उड़द 2899 रुपये के भाव पर बेची। उन्हें 5595 रुपये की राशि व्यापारियों से मिल गई। इसके बाद भावांतर की राशि भी उनके खाते में पहुँच गई। भावांतर भुगतान योजना में सतना मण्डी के 215 किसानों को 26 लाख 28 हजार 565 रुपये, नागौद के 186 किसानों को 3 लाख 33 हजार 355 रुपये, अमरपाटन के 6 किसानों को एक लाख 35 हजार 852 रुपये, मैहर के दो किसानों को 11 हजार 621 रुपये और रामनगर के किसान को 3300 रुपये भावांतर की राशि बैंक खाते में मिली है।

भावांतर भुगतान योजना के अगले चरण में एक नवम्बर के बाद अपनी उपज बेचने वाले पंजीकृत किसानों के खातों में इसी माह भावांतर भुगतान की राशि जमा करवाने का निर्णय भी हो चुका है।


मुकेश मोदी/राजेश सिंह
प्राकृतिक आपदा से प्रभावित 11 जिलों को 462 करोड़ 96 लाख रुपये आवंटित
राजस्व वर्ष 2016-17 में राजस्व न्यायालयों में रिकार्ड 9.11 लाख प्रकरणों का निराकरण
प्रदेश के सभी गांव वर्ष 2018 तक सड़कों से जुड़ेंगे
महिला स्व-सहायता समूहों का 16 दिसम्बर को वृहद सम्मेलन
प्रदेश में ग्रीष्मऋतु में पेयजल आपूर्ति की अग्रिम योजना बनायें
बदरवास में मिनी स्टेडियम बनेगा : मुख्यमंत्री श्री चौहान
19 नवीन औद्योगिक क्षेत्रों में 1960 करोड़ के कार्य प्रारम्भ
सघन मिशन इन्द्रधनुष में 101 प्रतिशत उपलब्धि के साथ इंदौर देश में द्वितीय
लोक निर्माण मंत्री श्री रामपाल सिंह सिलवानी, उदयपुरा जाएंगे
एक लाख से अधिक शालाओं में वार्षिकोत्सव के साथ प्रतिभा पर्व सम्पन्न
श्रेष्ठ कृतियों के रचनाकारों का अलंकरण समारोह 12 दिसम्बर को
पत्रकार-छायाकार 8 दिसम्बर को होंगे सम्मानित
ज्ञान लोक मंगल की परम्परा है
पदस्थापना
राज्य स्तरीय सूखा मॉनिटरिंग समिति का गठन
उपज का लाभकारी मूल्य पाकर खुश हैं सतना जिले के किसान
कपड़ों का अस्पताल खोलकर सफल उद्यमी बने अबीर
स्वरोजगार अपनाकार आरती ने दूसरों को दिया रोजगार
सशस्त्र झण्डा दिवस पखवाड़े का समारोहपूर्वक शुभारंभ
8 दिसम्बर को शाजापुर में "नवीन" स्मृति समारोह
1