| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | हिन्दी | English | संपर्क करें | साइट मेप
You Tube
पिछला पृष्ठ

सिंहस्थ - समाचार

  

अंतिम शाही पर्व में महाकाल के दर्शन करने उमड़ेगा सैलाब

251 रूपये के टिकट से दर्शन किया गया बंद

भोपाल : शुक्रवार, मई 20, 2016, 21:36 IST
 

21 मई को शरद पूर्णिमा के पर तीसरे एवं अंतिम शाही स्नान पर्व के बाद बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक स्वयंभू एवं दक्षिणमुखी महाकाल के दर्शन करने के लिए आने वाले लाखों-लाख श्रद्धालुओं की अपार संख्या को देखते हुये मंदिर प्रबंधन ने 251 रूपये के टिकट से कराया जाने वाला दर्शन बंद कर दिया है। अब समस्त श्रद्धालु साधारण लाइन में लगकर ही महाकाल के दर्शन करेंगे।

समस्त श्रद्धालुओं को आसानी एवं सरलता से महाकाल के दर्शन के लिए व्यापक प्रबंधन किये गये हैं। मंदिर परिसर में सुरक्षा एवं भीड़ प्रबंधन के लिए बड़ी संख्या में जिला पुलिस बल एवं सशस्त्र पुलिस बल को लगाया गया है।

 
सिंहस्थ - समाचार
मध्यप्रदेश के नव-निर्माण में साधु-संतों का आशीर्वाद मिलता रहे
स्वच्छ सिंहस्थ में सफाईकर्मियों की भूमिका महत्वपूर्ण
"आपकी सजायी उज्जैन नगरी में भरपूर सहयोग मिला"
मीडिया ने सिंहस्थ के सकारात्मक पहलुओं को देश-दुनिया के समक्ष रखा
सिंहस्थ में बरसा धर्म, अध्यात्म, आस्था और विश्वास का अमृत
सदी के दूसरे सिंहस्थ के सानंद संपन्न होने पर दिया सभी को धन्यवाद
अदभुत एवं अकल्पनीय सफलता के साथ संपन्न हुआ सिंहस्थ महाकुम्भ
अंतिम शाही स्नान में मुख्यमंत्री ने लगायी मोक्षदायिनी क्षिप्रा में डुबकी
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान उज्जैन पहुँचे
सिंहस्थ में कला उत्सव सांस्कृतिक महाकुंभ में कलाकारों की प्रस्तुति को सराहा श्रद्धालुओं ने
अंतिम शाही स्नान पर अखाडों के साथ एम्बुलेंस भी तैनात
सदी के दूसरे सिंहस्थ का अंतिम शाही स्नान आज
अंतिम शाही पर्व में महाकाल के दर्शन करने उमड़ेगा सैलाब
उज्जैन में बना सफाई का वर्ल्ड रिकार्ड
आनंद मंत्रालय का गठन स्वागत योग्य : स्वामी हर्षानन्द
सिंहस्थ में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने संतों को परोसा सुस्वादु भोजन
सदी के दूसरे सिंहस्थ के अंतिम शाही स्नान 21 मई को
सिंहस्थ में घाटों पर तैराक दल रख रहे लगातार चौकसी
सिंहस्‍थ में साम्‍प्रदायिक सौहार्द-मुस्लिम धर्मावलंबियों ने बाँटी खिचड़ी
ग्यारह हजार तीर्थयात्रियों का उपचार किया
प्रदोष पर्व पर लाखों श्रद्धालुओं ने लगाई क्षिप्रा में श्रद्धा की डुबकी
तप के रूप अनेक सम्मोहित हो रहे श्रद्धालु
रामेश्वर चौहान में जगा सेवाभाव
447 पशुओं का उपचार
तीर्थयात्रियों की 643 समस्याएँ निराकृत
उन सबने मन की आँखों से देखा सिंहस्थ का वैभव
विदिशा वृद्धाश्रम के वृद्धजनों ने लगाई डुबकी
सिंहस्थ में बीमार श्रद्धालुओं का आयुष से उपचार
ऐसे महाकुंभ के साक्षी बने जहाँ जाने की सब रखते इच्छा
तपोनिधि निरंजनी अखाड़ा में नागा दीक्षा का क्रम जारी
1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 ...