| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | हिन्दी | English | संपर्क करें | साइट मेप
You Tube
पिछला पृष्ठ

सिंहस्थ - समाचार

  

अदभुत एवं अकल्पनीय सफलता के साथ संपन्न हुआ सिंहस्थ महाकुम्भ

सिंहस्थ महाकुम्भ के सफल आयोजन पर मुख्यमंत्री श्री चौहान ने
सभी के प्रति व्यक्त किया आभार

भोपाल : शनिवार, मई 21, 2016, 16:19 IST

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि सिंहस्थ महाकुम्भ का आयोजन अदभुत एवं अकल्पनीय था। अंतिम शाही स्नान में हर्ष उल्लास, आस्था और विश्वास के साथ क्षिप्रा के रामघाट, दत्त अखाड़ा घाट, गऊघाट, मंगलनाथ घाट, वाल्मीकी घाट सहित विभिन्न घाटों में साधु-संतों एवं देश-विदेश से आये श्रद्धालुओं के लाखों की संख्या मेंsa डुबकी लगाकर अमृत स्नान करना इस बात का प्रमाण है। इस अवसर पर जिला प्रभारी मंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह, कलेक्टर श्री कवीन्द्र कियावत, मेला अधिकारी श्री अविनाश लवानिया, उपस्थित रहे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि इतिहास में पहली बार शैव एवं वैष्णव अखाड़ों के साधु-संतों ने एक-साथ आमने-सामने दत्त अखाड़ा घाट एवं रामघाट में आस्था की डुबकी लगाई। उन्होंने कहा कि भारतीय संस्कृति एवं संस्कार को इस महाकुम्भ ने और अधिक जीवंत कर दिया है। इसी विशेषता के कारण पूरा विश्व भारतीय संस्कृति का कायल है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि महाकाल की कृपा से रात एवं दिन ट्रेन एवं सड़क मार्ग से गर्मी की परवाह किये बगैर बड़ी संख्या में श्रद्धालु शाही स्नान हेतु उज्जैन आए। जो उनकी भारतीय संस्कृति के प्रति आस्था एवं श्रद्धा प्रदर्शित करती है। उन्होंने कहा कि सिंहस्थ में आने वाले श्रद्धालुओं को किसी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़े, इसके लिए वे स्वयं तथा प्रभारी मंत्री निरंतर मानीटरिंग करते रहे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इतनी बड़ी चुनौती को महाकाल के आर्शीवाद से संपन्न करवा लिया गया है। इसके लिए जिले के प्रभारी मंत्री श्री भूपेंद्र सिंह, विभिन्न अखाड़ों के पीठाधीश, महामण्डलेश्वर, संत-महंत, कमिश्नर श्री रवीन्द्र पस्तोर, पुलिस महानिरीक्षक श्री व्ही. मधुकुमार, कलेक्टर श्री कवीन्द्र कियावत, पुलिस अधीक्षक श्री मनोहर वर्मा सहित इस आयोजन से जुड़े समस्त शासकीय एवं अशासकीय कर्मचारी, स्वयंसेवी संस्थाओं तथा धार्मिक एवं सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधि, सफाई कर्मचारियों तथा प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से सहयोग देने वाले बधाई के पात्र हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पूरी संज़ीदगी के साथ सिंहस्थ महाकुम्भ की खबरें देश-विदेश तक पहुँचाने हेतु प्रिन्ट एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया को विशेष रूप से धन्यवाद दिया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि नर्मदा के दोनों किनारों में एक किलोमीटर की परिधि में किसानों की भूमि पर फलदार पौधे रोपित किये जायेंगे और इसके बदले राज्य सरकार फल नहीं आने तक किसानों को मुआवज़ा देगी। इससे जहॉं एक ओर पर्यावरण संतुलित होगा वहीं हरियाली बढ़ेगी तथा भूमि का कटाव रुकेगा। उन्होंने कहा कि क्षिप्रा मैया के दोनों किनारों पर वृक्षारोपण कर उसे पुनर्जीवित किया जाएगा।

 
सिंहस्थ - समाचार
मध्यप्रदेश के नव-निर्माण में साधु-संतों का आशीर्वाद मिलता रहे
स्वच्छ सिंहस्थ में सफाईकर्मियों की भूमिका महत्वपूर्ण
"आपकी सजायी उज्जैन नगरी में भरपूर सहयोग मिला"
मीडिया ने सिंहस्थ के सकारात्मक पहलुओं को देश-दुनिया के समक्ष रखा
सिंहस्थ में बरसा धर्म, अध्यात्म, आस्था और विश्वास का अमृत
सदी के दूसरे सिंहस्थ के सानंद संपन्न होने पर दिया सभी को धन्यवाद
अदभुत एवं अकल्पनीय सफलता के साथ संपन्न हुआ सिंहस्थ महाकुम्भ
अंतिम शाही स्नान में मुख्यमंत्री ने लगायी मोक्षदायिनी क्षिप्रा में डुबकी
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान उज्जैन पहुँचे
सिंहस्थ में कला उत्सव सांस्कृतिक महाकुंभ में कलाकारों की प्रस्तुति को सराहा श्रद्धालुओं ने
अंतिम शाही स्नान पर अखाडों के साथ एम्बुलेंस भी तैनात
सदी के दूसरे सिंहस्थ का अंतिम शाही स्नान आज
अंतिम शाही पर्व में महाकाल के दर्शन करने उमड़ेगा सैलाब
उज्जैन में बना सफाई का वर्ल्ड रिकार्ड
आनंद मंत्रालय का गठन स्वागत योग्य : स्वामी हर्षानन्द
सिंहस्थ में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने संतों को परोसा सुस्वादु भोजन
सदी के दूसरे सिंहस्थ के अंतिम शाही स्नान 21 मई को
सिंहस्थ में घाटों पर तैराक दल रख रहे लगातार चौकसी
सिंहस्‍थ में साम्‍प्रदायिक सौहार्द-मुस्लिम धर्मावलंबियों ने बाँटी खिचड़ी
ग्यारह हजार तीर्थयात्रियों का उपचार किया
प्रदोष पर्व पर लाखों श्रद्धालुओं ने लगाई क्षिप्रा में श्रद्धा की डुबकी
तप के रूप अनेक सम्मोहित हो रहे श्रद्धालु
रामेश्वर चौहान में जगा सेवाभाव
447 पशुओं का उपचार
तीर्थयात्रियों की 643 समस्याएँ निराकृत
उन सबने मन की आँखों से देखा सिंहस्थ का वैभव
विदिशा वृद्धाश्रम के वृद्धजनों ने लगाई डुबकी
सिंहस्थ में बीमार श्रद्धालुओं का आयुष से उपचार
ऐसे महाकुंभ के साक्षी बने जहाँ जाने की सब रखते इच्छा
तपोनिधि निरंजनी अखाड़ा में नागा दीक्षा का क्रम जारी
1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 ...