| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | हिन्दी | English | संपर्क करें | साइट मेप
You Tube
पिछला पृष्ठ

ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट

  
ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट-2016

प्रदेश में टेक्सटाइल इंडस्ट्रीज को प्रोत्साहन के लिये उद्योग नीति में विशेष प्रावधान

सेक्टोरल सत्र में वक्ताओं ने दी जानकारी

भोपाल : शनिवार, अक्टूबर 22, 2016, 17:45 IST

मध्यप्रदेश पाँच सबसे बड़े कपास उत्पादक राज्यों में से एक है। औद्योगिक क्षेत्र में टेक्सटाइल इंडस्ट्रीज ऐसी इंडस्ट्री है जिसके माध्यम से अधिक से अधिक लोगों को रोजगार दिया जा सकता है। इस वजह से टेक्सटाइल इंडस्ट्री को प्रोत्साहन दिया जाना राज्य सरकार की प्राथमिकताओं में है। टेक्सटाइल इंडस्ट्रीज के लिये प्रदेश में अनुकूल माहौल है। पिछले एक दशक में टेक्सटाइल इंडस्ट्री में मध्यप्रदेश में अच्छी ग्रोथ हुई है। यह विचार आज इंदौर में ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के समानान्तर सत्र में टेक्टाइल इंडस्ट्रीज से जुड़े वक्ताओं ने व्यक्त किये।

सत्र के प्रारम्भ में एम.पी. ट्राइफेक के प्रबंध संचालक श्री डी.पी. आहूजा ने मध्यप्रदेश में टेक्सटाइल इंडस्ट्री के परिदृश्य की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि वर्ष 2014 में तैयार की गई उद्योग संवर्धन नीति में कपड़ा उद्योग को बढ़ावा देने के कई प्रावधान किये गये हैं। उन्होंने प्रदेश में टेक्सटाइल इंडस्ट्री के लिये उपलब्ध जमीन के बारे में जानकारी दी। श्री आहूजा ने बताया कि कपड़ा उद्योग के लिये प्रदेश में पर्याप्त कपास उपलब्ध है। वर्तमान में प्रदेश में 65 बड़ी कपड़ा मिलें सफलतापूर्वक काम कर रही हैं। इंदौर, उज्जैन, धार, देवास, खरगोन, खण्डवा, बुरहानपुर, ग्वालियर, छिन्दवाड़ा, जबलपुर और भोपाल टेक्सटाइल सेंटर के रूप में उभर कर सामने आये हैं।

उद्योग आयुक्त श्री वी.एल. कान्ताराव ने बताया कि 4203 लूम्स, 53 हजार के करीब पावर लूम्स, 17 हजार 500 पावर लूम्स यूनिट और 49 स्पिनिंग यूनिट सफलता से काम कर रही हैं। उन्होंने बताया कि चंदेरी साड़ी बनाने वाले बुनकरों को आधुनिक सयंत्र उपलब्ध करवाये गये हैं।

वर्धमान टेक्सटाइल के ज्वाइंट मेनेजिंग डायरेक्टर श्री सचिन जैन ने 'टेक्सटाइल सेक्टर में चुनौती' पर विचार रखे। उन्होंने बताया कि टेक्सटाइल इंडस्ट्री में लगातार मॉर्डनाइजेशन से बदलाव आ रहे हैं। इस उद्योग में सिस्टम, स्टाइल, स्किल स्टाफ और शेयर वेल्यू में लगातार ध्यान देने की जरूरत होती है।

ट्राइडेंट लिमिटेड के चेयरमेन श्री राजीन्दर गुप्ता ने 'मध्यप्रदेश में टेक्सटाइल इंडस्ट्री के लाभ' पर विचार रखे। उन्होंने बताया कि इस उद्योग में महिलाओं को ज्यादा रोजगार मिलता है। मध्यप्रदेश में पर्याप्त संख्या में कुशल श्रमिक हैं। उन्होंने स्पिनिंग, प्रोसेसिंग, स्टिचिंग और कच्चे माल की उपलब्धता पर निवेश करने वाले प्रतिनिधियों को जानकारी दी। श्री गुप्ता ने बताया कि मध्यप्रदेश में टेक्सटाइल इंडस्ट्री का गौरवशाली इतिहास रहा है। इंदौर की मिलें सारे देश में जानी जाती थीं। ट्राइडेंट के चेयरमेन ने बताया कि कपड़ा उद्योग से बड़ी संख्या में किसानों को रोजगार दिया जा सकता है।

टेक्सटाइल सेक्टर स्किल कॉउसिंल के सी.ई.ओ. श्री जे.वी. राव ने कपड़ा उद्योग में लगने वाले कुशल और अकुशल श्रमिकों के प्रशिक्षण के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि भारत सरकार ने कपड़ा उद्योग को बढ़ावा देने के लिये श्रमिकों के प्रशिक्षण का कार्यक्रम तैयार किया है। उन्होंने देश और मध्यप्रदेश में ट्रेनिंग सेंटर और फैशन डिजाइनिंग इंस्टीट्यूट के बारे में जानकारी दी।

 
ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट
पाँचवां वैश्विक निवेशक सम्मेलन अत्यधिक सफल
रु. 5,62,847 करोड़ के 2,630 निवेश आशय प्रस्ताव प्राप्त
निवेश के लिये मध्यप्रदेश सबसे अधिक पसंदीदा राज्य बना-विदेश मंत्री श्रीमती स्वराज
आर्थिक मंदी से जूझते विश्व में आशा की किरण है भारत
मध्यप्रदेश में नवकरणीय ऊर्जा में निवेशकों के लिये अच्छी संभावनाएँ
केन्द्रीय मंत्री श्री नायडू ने की विकास-प्रिय राज्य सरकार की प्रशंसा
मध्यप्रदेश में इन्वेस्ट कर अपनी तरक्की के साथ प्रदेश की भी तरक्की करें
मध्यप्रदेश में इलेक्ट्रानिक्स, ऑटोमोबाइल तथा निर्माण क्षेत्र में निवेश की संभावनाएँ तलाशेगा कोरिया
मध्यप्रदेश अब देश का मुख्य प्रदेश
ड्रम्स ऑफ मध्यप्रदेश को राज्य संगीत की मिलेगी पहचान : मुख्यमंत्री श्री चौहान
जापान की लोकप्रिय टेक्नालॉजी का मध्यप्रदेश में विस्तार होगा
खाद्य प्र-संस्करण विकास के लिये राज्य शासन दृढ़ संकल्पित : मंत्री श्री गौरीशंकर बिसेन
मध्यप्रदेश में हर वर्ष 15-20 प्रतिशत बढ़ रही है पर्यटक संख्या
मध्यप्रदेश होगा ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री का बेस्ट "डेस्टिनेशन
उद्योगपतियों ने मुख्यमंत्री श्री चौहान के ईमानदार प्रयासों की दिल से तारीफ की
स्वास्थ्य मंत्री श्री रूस्तम सिंह द्वारा जीवनरक्षक दवाइयाँ मध्यप्रदेश में बनाने की अपील
प्रदेश में टेक्सटाइल इंडस्ट्रीज को प्रोत्साहन के लिये उद्योग नीति में विशेष प्रावधान
मध्यप्रदेश-यू.ए.ई. में निवेश संभावनाओं पर संयुक्त चर्चा
ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क से जुड़ेगी देश की सभी ग्राम पंचायत
ब्राण्ड मध्यप्रदेश का आधार - श्री शिवराजसिंह चौहान का मधुर व्यवहार
उद्योगपतियों द्वारा मध्यप्रदेश के विकास की भरपूर सराहना
मध्यप्रदेश बनेगा देश का सप्लाई हब - केन्द्रीय वित्त मंत्री श्री जेटली
6 लाख 89 हजार करोड़ रूपये के निवेश प्रस्ताव आये
मध्यप्रदेश में आईटी के क्षेत्र में अच्छा काम हुआ
"पीपीपी मॉडल-स्विस चेलेंज की चुनौतियाँ" सेक्टोरल सेमीनार
मध्यप्रदेश में टेक्सटाइल्स इंडस्ट्री में निवेश करने में मिलेंगे अच्छे परिणाम
प्रदेश की पर्यटन और भूमि निवर्तन नीति में हुए प्रभावी संशोधन
स्मार्ट सिटी के लिये बेहतर प्लानिंग जरूरी
मध्यप्रदेश नवकरणीय ऊर्जा क्षेत्र का नया पावर हब होगा
स्मार्ट सिटी निवेशकों के लिये बेहतर मौका
1 2 3 4