| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | हिन्दी | English | संपर्क करें | साइट मेप
You Tube
पिछला पृष्ठ

सफलता की कहानी

  

स्वच्छता के रोल मॉडल तुषार को उपहार में मिली सायकिल

भोपाल : गुरूवार, नवम्बर 30, 2017, 15:20 IST

बालाघाट जिले के ग्राम कुम्हारी का मूक-बधिर बालक तुषार उराड़े अब स्वच्छता अभियान का रोल मॉडल बन गया है। तुषार ने जिले को नई पहचान दिलाई है। विभिन्न संस्थायें इस गरीब परिवार के बालक की मदद के लिए आगे आ रहीं है। इसी कड़ी में 28 नवम्बर को भारतीय स्टेट बैंक की लिंगा-नवेगांव शाखा ने तुषार को उपहार में एक सायकिल भेंट की है। इसके पूर्व जिला प्रशासन ने तुषार को डिजिटल श्रवण यंत्र भेंट किया है और उसकी पढ़ाई की व्यवस्था की जिम्मेदारी ली है।

ज्ञातव्य है कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने 26 नवम्बर को देशवासियों से 'मन की बात' कार्यक्रम में बातचीत करते हुए तुषार की बहुत तारीफ की थी। प्रधानमंत्री ने तुषार को पूरे देश के लिये उदाहरण बताया था।

 
सफलता की कहानी
जैविक खेती से किसान चित्तरंजन को मिली अलग पहचान
मत्स्य पालकों की आय में 10 गुना वृद्धि
मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजना की मदद से शिवराम की आय हुई दुगुनी
अब पक्के मकान में रहता है रामकिशन का परिवार
विद्युत शैलचॉक से बढ़ी उदयलाल की आमदनी
भावांतर भुगतान योजना में मक्का के मिल रहे अच्छे भाव
स्व-सहायता समूह द्वारा निर्मित चिक्की ने महिलाओं को दिया आर्थिक संबल
पहले करते थे मजदूरी, अब दे रहे हैं रोजगार
मुख्यमंत्री बाल हृदय उपचार योजना से जिया को मिला जीवनदान
सुनने और बोलने लगे हैं भरत और प्रतिज्ञा
सरसों और प्याज की खेती में अव्वल भिण्ड जिले के किसान
अन्त्यावसायी स्व-रोजगार योजना से कपड़ा व्यवसायी बना राजेश
गौ-संवर्धन योजना से किसान बना धनवान
किसानों को मिल रहा उपज का लाभकारी मूल्य
रेखा को जन्म के 7 साल बाद मिली आंखों की रोशनी
फसलों के भाव में उतार-चढ़ाव की चिन्ता से मुक्त हुए किसान
सौरभ का रेडीमेड गार्मेन्ट पन्ना में अब अपरिचित नहीं रहा
माँ के लिए नौकरी छोड़ी तो स्व-रोजगार योजना बनी सहारा
भावांतर भुगतान योजना से निराशा से मुक्त हुए किसान
स्वरोजगार अपनाकार आरती ने दूसरों को दिया रोजगार
फसल की लाभकारी कीमत मिलने की गारंटी है भावांतर भुगतान योजना
सुमरी बाई का है पक्का घर और शौचालय
बेवा कुसमा बाई को मिला पक्का घर
किसानों को मिलीं कीमतें बेहतर- अफवाहें हुईं बेअसर
भावांतर भुगतान योजना से किसानों को मिला आर्थिक संबल
खरगोन में है प्रदेश का पहला रंगीन मछली उत्पादन केंद्र
कृषि उपज मंडियों में किसानों को उपज की मिल रही सही कीमत
किसान अब खेती-किसानी को घाटे का धंधा नहीं मानते
स्वच्छता के रोल मॉडल तुषार को उपहार में मिली सायकिल
भावांतर राशि पाकर खुश हैं रीवा जिले के किसान
1 2 3 4 5 6 7 8 9 10